कानपुर, राजीव सक्सेना। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का डिजिटल इंडिया का सपना साकार रूप लेता जा रहा है। कोरोना काल में इसकी रफ्तार तेजी से बढ़ी है। मार्च 2020 से मार्च 2021 के बीच देश में डिजिटल भुगतान 30 फीसद बढ़ गया है। रिजर्व बैंक ने इस संबंध में 28 जुलाई को डिजिटल भुगतान इंडेक्स की सूची जारी की है। नीचे दिए महज दो केस सिर्फ यह बताने के लिए है कि किस तरह लोगों का रुझान डिजिटल पेमेंट की ओर बढ़ा है, जो अब काफी तेजी से बढ़ता जा रहा है। इससे साफ है कि डिजिटल इंडिया की सोच अब हर नागरिक की सोच बनती जा रही है।

Case-1 : पहले जब मन होता था, दोस्तों के साथ रेस्टोरेंट जाकर पार्टी कर लेते थे लेकिन कोरोना काल में बाहर जाना काफी कम हो गया। इसलिए, अब जो खाने का मन होता है, उसे घर पर ही आनलाइन भुगतान कर मंगा लेते हैं। वर्तमान स्थितियों में यह सुरक्षित तरीका है। -प्रखर दीक्षित, कलक्टरगंज।

Case-2 : घर का सामान खरीदने के लिए किराना की दुकान पर जाकर लोगों की भीड़ के बीच इंतजार करना अब सुरक्षित नहीं है। अब तो तमाम आनलाइन प्लेटफार्म हैं, उनसे घर का पूरा सामान मंगा लेते हैं। -प्रेक्षा त्रिवेदी, बर्रा विश्व बैंक।

आरबीआइ ने शुरू किया इंडेक्स

रिजर्व बैंक ने मार्च 2018 को आधार मानते हुए डिजिटल भुगतान का इंडेक्स शुरू किया। पिछले वर्ष कोरोना शुरू होने के समय मार्च 2020 में इंडेक्स 100 से बढ़ते हुए 207.84 तक पहुंच गया था। इसके बाद अगले छह माह में यानी सितंबर 2020 तक 10 अंकों की भी वृद्धि नहीं हो सकी थी और इंडेक्स 217.74 पर पहुंच पाया था। इसका कारण लाकडाउन के दौरान ज्यादातर कारोबार का बंद होना था लेकिन जैसे ही पिछले वर्ष चीजें लाकडाउन से बाहर निकलीं, डिजिटल खरीदारी तेजी से बढ़ गई। मार्च 2021 में यह सितंबर 2020 के 217.74 बिंदु से 270.59 तक पहुंच गई।

-कोरोना काल में जब लाकडाउन लगा था तो काफी ट्रक रास्ते में फंस गए थे। पहले ट्रक चालक और क्लीनर को रास्ते के खर्च के लिए नकद रुपये दिए जाते थे। अब लाकडाउन के बाद से उनको आनलाइन रकम ट्रांसफर की जाती है। वे रास्ते में डीजल या अन्य खर्च का आनलाइन भुगतान करते हैं। जरूरत पडऩे पर आनलाइन और रुपये ट्रांसफर कर दिए जाते हैं। -श्याम शुक्ला, यूपी युवा मोटर ट्रांसपोर्टर एसोसिएशन।

-डिजिटल भुगतान लगातार बढ़ रहे हैं। कोरोना के दौरान इनकी संख्या बढ़ी है। जिस तरह से डिजिटल पेमेंट इंडेक्स बढ़ रहा है, वह आने वाले भविष्य के लिए बहुत अच्छा संकेत है। -एके वर्मा, जिला अग्रणी प्रबंधक।

डिजिटल पेमेंट इंडेक्स

समय अवधि- डिजिटल पेमेंट इंडेक्स

मार्च 2018 (आधार) 100.00

मार्च 2019- 153.47

सितंबर 2019- 173.49

मार्च 2020- 207.84

सितंबर 2020- 217.74

मार्च 2021-  270.59

Edited By: Abhishek Agnihotri