कानपुर, जेएनएन। काेरोना संक्रमितों की संख्या बढ़ने के साथ ऑक्सीजन सिलिंडर का भी संकट आ गया है और कालाबाजी तक शुरू हो गई है। वहीं कुछ लोग भविष्य के संकट को देखते हुए एतिहातन घर में सिलिंडर जमा कर रहे हैं। इसके देखते हुए शासन ने प्लांट से ऑक्सीजन सिलिंडर वितरण को लेकर दिशा निर्देश जारी किए हैं। अब ऑक्सीजन प्लांट पर डॉक्टर का लिखा पर्चा दिखाने पर ही सिलिंडर दिया जाएगा।

होम आइसोलेशन में रह रहे कोरोना संक्रमितों को आक्सीजन सिलिंडर आसानी से मिल सकें, इसके लिए शासन ने जिलाधिकारियों को विस्तृत दिशा निर्देश जारी किए हैं। प्रमुख सचिव अनीता सिंह ने जारी आदेश में कहा है कि होम आइसोलेशन में रहने वाले संक्रमितों और उन मरीजों को आक्सीजन सिलिंडर की आपूर्ति सुनिश्चित की जाए जिनकी रिपोर्ट निगेटिव है, लेकिन सीटी स्कैन या एक्सरे में उनमें संक्रमण की पुष्टि हो रही है। ऑक्सीजन सिलिंडर उन्हें ही मिलेगा जिसके पास किसी चिकित्सक का पर्चा होगा।

प्रमुख सचिव ने कहा है कि आक्सीजन सिलिंडर की आपूर्ति करते समय डीएम ये सुनिश्चित करेंगे कि आक्सीजन सिलिंडर किसी ऐसे मरीज का न दिया जाए जो पहले से ही किसी कोविड अस्पताल में भर्ती हैं। डीएम एक या दो प्लांट चिह्नित कर देंगे ताकि मरीजों के स्वजन को वहां आसानी से सिङ्क्षलडर उपलब्ध हो जाए। चिकित्सक द्वारा लिखे गए पर्चे के साथ ही सिलिंडर प्राप्त करने वाले व्यक्ति से उसके आधार कार्ड की छायाप्रति और मोबाइल नंबर जरूर लिया जाएगा। कानपुर में 13261 मरीज होम आइसोलेशन में हैं। इनके लिए करीब करीब साढ़े तीन मीट्रिक टन आक्सीजन की डिमांड है। वैसे भी शहर में चमन गैस समेत दो सेंटरों पर होम आइसोलेशन वाले मरीजों को आक्सीजन सिङ्क्षलडर की आपूर्ति की जा रही है।

Edited By: Abhishek Agnihotri