मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

जागरण संवाददाता, कानपुर: शहर में चल रहे बिजली संकट और अघोषित कटौती से औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना नाराज हो गए। सर्किट हाउस में बिजली विभाग के सभी अधिकारियों को बुलाकर उन्होंने स्थिति को तत्काल सुधारने के लिए कहा। अधिकारियों के जवाब से संतुष्ट न होने पर महाना ने शेड्यूल का आदेश मांग लिया। सफाई में केस्को एमडी ने कहा लंबे समय से जो बिजली खस्ताहाल थी उसे काफी हद तक ठीक किया गया है। बिजली की समस्या का जल्द ही समाधान होगा।

सतीश महाना ने सोमवार को केस्को के साथ ही, एनएचएआइ, जल निगम, एचएएल के अधिकारियों को बुलाया था। चकेरी क्षेत्र की बिजली की समस्या को दूर करने के लिए दो सब स्टेशन बनाने पर सहमति बनी। इसके लिए विभाग प्रस्ताव बनाकर देगा। एक सब स्टेशन एचएएल के अंदर तो दूसरा चकेरी में बनेगा। एचएएल की जमीन की स्वीकृति केन्द्र से मिलेगी, जिस पर महाना ने केस्को अधिकारियों से कहा आप प्रस्ताव दो, केन्द्र में बात की जाएगी। केस्को की अंडर ग्राउंड केबिलों को डालने के लिए एचएएल जगह नहीं दे रहा था। महाना ने दोनों विभागों के अधिकारियों का आमने-सामने बैठाकर बात कराई तो समाधान निकला। अब एचएएल केस्को को 300 मीटर जगह देगा, जिससे केस्को को करीब ढाई किमी लंबा चक्कर नहीं लगाना पड़ेगा। एनएचएआइ के अधिकारियों लाल बंगला नई सब्जी मंडी के जल निकासी के लिए हाईवे को पार करने के लिए जगह देने को कहा। साथ ही रामादेवी सर्विस लेन को भी जल्द शुरू करने के लिए कहा। बैठक में जलकल, जल निगम, केस्को के अधिकारी मौजूद रहे।

शक्ति नगर के नाले को 90 लाख

चकेरी के शक्तिनगर में लंबे समय से चली आ रही नाले की समस्या को दूर करने के लिए 90 लाख रुपये स्वीकृत हो गए हैं। इसका टेंडर भी हो चुका है। जल्द ही नगर निगम और एचएएल इसके लिए संयुक्त सर्वे करेंगे। बैठक में महाना ने एचएएल लेबर कालोनी और शक्ति नगर को अमृत योजना के तहत जोड़ने के लिए भी कहा, ताकि सीवर की समस्या का भी समाधान हो जाए।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप