कानपुर, जेएनएन। मेस में गंदगी एवं गुणवत्तायुक्त भोजन न मिलने से मंधना स्थित रामा विश्वविद्यालय के मेडिकल छात्र शनिवार को भूख हड़ताल पर बैठ गए। इस दौरान छात्रों ने विवि परिसर में जमकर हंगामा किया। पुलिस-प्रशासन के हस्तक्षेप पर विवि प्रशासन को छात्रों की मांग के आगे झुकना पड़ा। तब जाकर छात्र शांत हुए। पूरे प्रकरण की जांच के लिए कमेटी गठित की गई है।

शुक्रवार की रात मेस में पहुंचे मेडिकल छात्रों को खाना नहीं मिला तो वे नाराज हो गए। समय से पहले मेस बंद हो जाने पर भूखे छात्रों में गुस्सा सातवें आसमान पर था। हंगामे की आशंका को देखते हुए विवि प्रशासन ने एहतियातन बिठूर पुलिस को भी बुला लिया था। रात में ही दोबारा मेस में खाना बनवाया गया लेकिन वह भी पूरा नहीं पड़ा। इस पर छात्रों में गुस्सा और बढ़ गया। शनिवार की सुबह नाराज छात्रों ने नाश्ता और दोपहर का खाना भी नहीं खाया। छात्रों के गुस्से को देखते हुए विवि प्रशासन ने पुलिस-प्रशासन को सूचित किया। इस पर कल्याणपुर सर्किल की फोर्स मौके पर पहुंच गई। साथ ही एडीएम (एफआर) वीके पांडेय एवं एसपी वेस्ट अनिल कुमार भी पहुंचे।

अधिकारियों ने छात्रों को शांत कराने का प्रयास किया तो छात्रों ने आरोप लगाया कि भारी भरकम हॉस्टल फीस देने के बाद भी सुविधाएं और गुणवत्तापरक खाना नहीं मिल रहा है। मेस रात आठ से नौ बजे तक खुलती है। शुक्रवार शाम को मेस एक के बजाय सिर्फ आधा घंटे ही खोली गई। इसलिए रात को खाना नहीं मिला। उनकी समस्याएं सुनने के बाद अफसरों ने समाधान का आश्वासन दिया। इस पर छात्र मान गए। उधर, रामा विवि के जनसंपर्क अधिकारी प्रणव कुमार सिंह का कहना है कि मेस की समस्या थी। खाने की गुणवत्ता और साफ-सफाई को लेकर छात्र नाराज थे। उनकी समस्या का समाधान किया गया है। एसडीएम बिल्हौर की अध्यक्षता में जांच कमेटी गठित की गई है, जिसमें विवि व पुलिस अधिकारी, छात्र और मेस कर्मचारी हैं।  

Posted By: Abhishek

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस