यूं तो मंदिर ऐसा स्थल होता है, जहां श्रद्धालु पावन हृदय से आते हैं। मगर, भीड़ में कई ऐसे शख्स भी होते हैं, जो श्रद्धालु बनकर बदनीयती से पहुंचते हैं। परमट घाट स्थित आनंदेश्वर बाबा मंदिर आस्था का बड़ा केंद्र है। यहां प्रतिदिन हजारों भक्त पूजन-वंदन के लिए आते हैं। इस गहमागहमी का फायदा उठाते हुए कुछ आपराधिक तत्व चोरी जैसी वारदात को अंजाम देकर चुपचाप निकल जाते थे। आस्थावानों की इस पीड़ा को देखते हुए शिवकुमार शुक्ला 'गोपाल' ने जन सुरक्षा में आस्था दिखाई और अपने प्रयास-सहयोग से मंदिर में निगहबानी की सुरक्षा व्यवस्था मजबूत कर दी है।

अपने शहर को शानदार बनाने की मुहिम में शामिल हों, यहां करें क्लिक और रेट करें अपनी सिटी

महाबलीपुरम् पनकी निवासी शिवकुमार शुक्ला आनंदेश्वर मंदिर के भक्त हैं। दो साल पहले वह मंदिर में पूजा के लिए गए थे। एक महिला भी वहां अपने पति के साथ पहुंची। तभी किसी शातिर ने उसका पर्स चोरी कर लिया। वह दुखी होकर रोए जा रही थी। शिवकुमार बताते हैं कि तभी मन में आया कि आस्था के इस पावन स्थल पर आकर किसी का मन नहीं दुखना चाहिए। यहां सुरक्षा के इंतजामों पर कुछ काम जरूर होना चाहिए। इसी सोच के साथ मंदिर के महंत रमेश पुरी से चर्चा की।

इसके बाद करीब 13 लाख रुपये खर्च कर मंदिर में सब जगह सीसीटीवी कैमरे लगवाए। पुलिस चौकी, महंत के कक्ष सहित परिसर में दो स्थानों पर एलईडी स्क्रीन लगवाई, ताकि मंदिर के कोने-कोने की निगरानी हो सके।

घटनाओं पर लगाम, श्रद्धालुओं को राहत
मंदिर में भीड़ की वजह से पहले आए दिन चोरी की घटनाएं होती थीं। कई बार खिड़की के रास्ते कूदकर चोर मंदिर का दानपात्र तोड़कर पैसा चुरा ले जाते थे। पार्किंग में से वाहन चोरी हो जाते थे। इतने सीसीटीवी कैमरे लगने के बाद घटनाएं न के बराबर हुई हैं। दानपात्र से चोरी करने वाला एक चोर पकड़ भी लिया गया था।

इसके अलावा श्रद्धालुओं की संख्या ज्यादा होने पर अंदर प्रवेश को लेकर धक्कामुक्की होती थी। अब एलईडी स्क्रीन पर श्रद्धालु बाहर से ही देख लेते हैं कि अंदर बाबा आनंदेश्वर का अभिषेक चल रहा है, पूजन हो रहा है, कतार में अधिक लोग हैं तो वह धक्कामुक्की नहीं करते, बल्कि इंतजार करते हैं।

गंगा बैराज पर लगाई जालियां
गंगा बैराज शहर का पिकनिक स्पॉट बन चुका है। युवा वहां जाते हैं। कोई सेल्फी के चक्कर में तो कोई तैरने के प्रयास में अक्सर वहां डूब जाता है। हादसों को रोकने की मंशा से पिछले दिनों जिला प्रशासन ने बैराज पर जालियां लगवाईं। जन सुरक्षा के प्रति संवेदनशील रहने वाले शिवकुमार शुक्ला ने इस कार्य में भी प्रशासन का आर्थिक सहयोग किया।

'मंदिर के प्रति मेरी आस्था अगाध है। वहां कोई अप्रिय घटना हो तो तकलीफ होती है। भगवान से लगाव है तो उनके भक्तों के प्रति भी संवेदनाएं होनी चाहिए। घटनाओं पर कुछ अंकुश लगे, इसी सोच के साथ मंदिर परिसर में सीसीटीवी कैमरे लगवाए। जल्द ही नाइटविजन कैमरे भी लगवाने जा रहे हैं।'
- शिवकुमार शुक्ल 'गोपाल'

अपने शहर को शानदार बनाने की मुहिम में शामिल हों, यहां करें क्लिक और रेट करें अपनी सिटी

By Nandlal Sharma