कानपुर, जागरण संवाददाता। काकादेव थाना क्षेत्र में एक परिवार ने उनके 16 वर्षीय बेटे का बहला फुसलाकर मतांतरण कराने और दूसरे धर्म की शादीशुदा महिला से निकाह कराने का आरोप लगाकर थाने में तहरीर दी। पुलिस के सुनवाई न करने पर स्वजन ने बजरंगदल कार्यकर्ताओं के साथ हंगामा किया। इसके बाद पुलिस ने कार्रवाई का आश्वासन देकर मामला शांत कराया।

काकादेव निवासी दंपती ने बताया कि उनका 16 वर्षीय बेटा जाजमऊ निवासी दूसरे समुदाय की एक शादीशुदा महिला के संपर्क में था, महिला के एक बच्चा भी है। महिला ने उसे बहाने से बुलाया और घर पर मौलवी बुलवाकर उसका मतांतरण कराने के बाद उससे निकाह कर लिया। बेटे ने घर लौटकर मतांतरण और निकाह करने की जानकारी दी तो उनके होश उड़ गए। स्वजन ने बजरंगदल के प्रांत सुरक्षा प्रमुख आशीष त्रिपाठी से संपर्क किया। इसके बाद बजरंग दल कार्यकर्ता पीड़ित परिवार से मिले और उनके 16 वर्षीय बेटे से भी बातचीत की। किशोर का कहना था कि उसका मतांतरण और निकाह हो चुका है। अब वह उन लोगों के साथ ही रहेगा।

कई बार समझाने के बाद नहीं माना तो बजरंगदल कार्यकर्ता विद्यार्थी प्रमुख प्रिंस राज, जिला संयोजक बजरंगदल दिलीप और कृष्णा, गपोले, शिवम व विशाल के साथ थाने पहुंचे। जहां स्वजन ने कार्रवाई न होने पर हंगामा किया। करीब दो घंटे के हंगामे के बाद पुलिस ने कार्रवाई का आश्वासन देकर हंगामा कर रहे लोगों को शांत कराया। डीसीपी पश्चिम बीबीजीटीएस मूर्ति ने बताया कि मामले की जांच कराई जा रही है। जांच के बाद रिपोर्ट दर्ज कर दोषियों पर कार्रवाई की जाएगी।

टरकाते रहे थाना प्रभारी : मतांतरण की शिकायत पर काकादेव थाना प्रभारी कार्रवाई करने से कतराते रहे। आरोप है कि थाना प्रभारी मामला चकेरी थाना क्षेत्र के जाजमऊ इलाके का होने का हवाला देकर चकेरी पुलिस से कार्रवाई कराने की बात कहते रहे। जबकि स्वजन काकादेव थाने में रिपोर्ट दर्ज कराने की मांग पर अड़े रहे।

मौलवी पर भी हो कार्रवाई : बजरंग दल के प्रांत सुरक्षा प्रमुख ने बताया कि मौलवी का घर पर किशोर को कलमा पढ़ाते हुए वीडियो इंटरनेट पर वायरल हुआ है। मौलवी और उसके गिरोह को चिह्नित कर उनके खिलाफ भी कड़ी कार्रवाई की जानी चाहिए।

Edited By: Abhishek Agnihotri