कानपुर, जेएनएन। 25 साल की सीमा (परिवर्तित नाम) ने बड़े विश्वास के साथ पांच महीने पहले एक शादीशुदा युवक का हाथ थामा था। फेसबुक से प्यार और प्यार से शादी तक पहुंचा यह सफर अधिक दिनों तक नहीं चला और प्रेमी से पति बना वह धोखेबाज युवक उसे चलती ट्रेन में छोड़ भाग निकला। सीमा को धोखे का अंदेशा हुआ तो उसकी तबियत बिगड़ गई। ट्रेन जब सेंट्रल स्टेशन पहुंची तो जीआरपी ने उसे अस्पताल पहुंचाया। हालांकि सीमा की ओर से फिलहाल पति के खिलाफ कोई लिखित शिकायत दर्ज नहीं की गई है।

बेतवा एक्सप्रेस बुधवार मध्य रात डेढ़ बजे सेंट्रल स्टेशन पहुंची। सौ नंबर से मिली एक सूचना के मुताबिक जीआरपी ने आरक्षित बोगी से बेहोशी हालत में युवती को उतारकर अस्पताल पहुंचाया। होश में आने पर उसने जो कहानी सुनाई वह किसी सबक से कम नहीं है। सीमा ने बताया कि वह मूलरूप से फतेहपुर की रहने वाली है लेकिन दबौली में परिजनों के साथ रहती थी। फेसबुक से एक पड़ोस के युवक से उसकी मित्रता हुई और दोनों प्यार करने लगे। परिजनों की मर्जी के खिलाफ जाकर उसने शादी कर ली, जबकि उसे पता था कि होने वाला पति पहले से शादीशुदा है। शादी के बाद दोनों यहीं रहने लगे।

तीन महीने पहले वह गर्भवती हुई तो पति उसे अपने भाई के घर दुर्ग ले गया। बुधवार को दोनों बेतवा एक्सप्रेस से कानपुर लौट रहे थे। बांदा के पास अचानक पति लापता हो गए और उनका मोबाइल भी स्विच ऑफ हो गया। कुछ ही देर में उसे आभास हो गया कि उसके साथ धोखा हुआ है क्योंकि कुछ देर पहले वह ऐसी ही बातें कर रहा था। सीमा अब अपने किराए वाले घर पर ही है और पति के वापस आने का इंतजार कर रही है।  

Posted By: Abhishek

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप