महोबा, जेएनएन। कानपुर के बाद अब महोबा में भी लव जिहाद का मामला सामने आया है। यहां इशाक नाम के युवक ने राज नाम बताकर छात्रा को प्रेमजाल में फंसा लिया और जब असलियत सामने आई तो उसे धमकी देकर परेशान करने लगा। कोचिंग आते-जाते उसका पीछा करके रास्ते में छेड़छाड़ करने लगा। शिकायत पर पुलिस ने आरोपित युवक को गिरफ्तार करके मुकदमा दर्ज किया है और उसे जेल भेज दिया है।

महोबा शहर के मोहल्ले में रहने वाले व्यक्ति ने पुलिस को बताया कि 14 वर्षीय पुत्री इंटर कालेज की छात्रा है। सुबह कोचिंग आते-जाते समय करीब एक माह पहले एक युवक ने बेटी से दोस्ती बढ़ाई और उसका फोन नंबर भी हासिल कर लिया। युवक अक्सर उसकी बेटी से फोन पर बात करता रहा। युवक ने अपना नाम राज बताया और कहा कि वह दूसरे कालेज में पढ़ता है। बेटी को 15 दिन पहले किसी तरह से पता चला कि युवक उसके धर्म का नहीं है और उसका नाम इशाक है। इसपर बेटी ने उसका फोन नंबर ब्लाक कर दिया और उससे बातें बंद करके दूरियां बढ़ा लीं। इसके बाद युवक दूसरे नंबर से बेटी से बात करने की कोशिश करने लगा।

बेटी ने जब बात नहीं की तो कोचिंग जाते समय उसका पीछा करने लगा। कुछ दिन पहले रास्ते में घेर कर बेटी को बर्बाद कर देने की धमकी दी। धमकाते हुए कहा कि स्वजन या किसी को बताया तो परिवार सहित उसे भी जान से मार देगा। शुक्रवार शाम को पुत्री कोचिंग से घर लौट रही थी तो युवक ने रास्ते में घेर लिया और छेड़छाड़ करने लगा। छात्रा किसी तरह बचकर घर तक आई तो युवक भी उसका पीछा करते हुए आ गया। घर के पास आते छात्रा ने मदद के लिए आवाज लगाई तो मोहल्ले वालों ने भागने का प्रयास कर रहे इशाक उर्फ राज को पकड़ लिया और कोतवाली ले गए।

विश्व हिंदू परिषद व बजरंग दल के मयंक तिवारी आदि कार्यकर्ता भी कोतवाली पहुंच गए और पुलिस से कार्रवाई की मांग की। उन्होंने पुलिस को बताया कि आरोपित शहर के कस्बाथाई निवासी इकलाख का पुत्र इशाक पूर्व नियोजित तरीके से अपना नाम, धर्म छिपा कर छात्रा को तंग कर रहा था। कोतवाली प्रभारी बलराम सिंह ने बताया कि आरोपित को गिरफ्तार कर पाक्सो एक्ट, एससीएसटी, लव जिहाद आदि धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज करके जेल भेज दिया गया है। एसपी सुधा सिंह ने बताया कि मामले की जानकारी हुई है, आरोपित के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।

Edited By: Abhishek Agnihotri