औरैया, जेएनएन। फफूंद थाना क्षेत्र के गांव सेनपुर में विवाहिता का शव घर के अंदर पड़ा मिलने से सनसनी फैल गई। बुधवार की सुबह पड़ोसियों ने मामले की जानकारी की तो घर से पति व अन्य ससुरालीजन फरार थे। सूचना पर आई पुलिस ने छानबीन के बाद मायके वालों को सूचित किया। गांव आए मायके वालों ने दहेज हत्या का आरोप लगाते हुए शादी के बाद से बेटी को प्रताड़ित किए जाने की जानकारी दी। पुलिस घटन की छानबीन कर रही है। 

इटावा जनपद के थाना बकेवर अंतर्गत गांव अलीयापुर निवासी मुनीम सिह ने अपनी 30 वर्षीय पुत्री मोहिनी उर्फ पप्पी की शादी विगत नौ वर्ष पूर्व फफूंद थाना क्षेत्र के गांव सेनपुर निवासी कारेंद्र सिंह के पुत्र सोनू से हुई थी। मायके वालों ने पुलिस को बताया कि शादी के बाद अतिरिक्त दहेज में एक सोने की जंजीर व अंगूठी की मांग को लेकर ससुरालीजन आए दिन मोहिनी से मारपीट करते थे। मोहिनी के पिता ने किसी तरह अंगूठी-जंजीर की मांग पूरी की। कुछ दिन सही रहा फिर इसके बाद दोबारा दहेज की मांग कर मोहिनी को प्रताड़ित किया जाने लगा।

पुलिस के अनुसार बुधवार की सुबह सोनू के घर का दरवाजा काफी देर तक न खुलने पर ग्रामीणों को संदेह हुआ। उन्होंने आवाज दी लेकिन गेट नहीं खुला तो पुलिस को सूचना दी गई। गांव पहुंची पुलिस किसी तरह घर के अंदर पहुंची तो कमरे में फर्श पर मोहिनी का शव पड़ा था। यह नजारा देखकर ग्रामीणों के होश उड़ गए। पुलिस ने फोरेंसिक टीम बुलाकर जांच कराई। ग्रामीणों ने बताया कि घर से छह साल के मासूम बच्चे के साथ सोनू और सास-ससुर फरार हो गए हैं।

मायके पक्ष ने आरोप लगाया कि दहेज की मांग पूरी न होने पर पति ने माता-पिता के साथ मिलकर मोहिनी को मार डाला। इसके बाद छह वर्षीय पुत्र अंश को लेकर फरार हो गए। पुलिस का कहना है कि मंगलवार देर रात की घटना है। महिला का शव बुधवार सुबह कमरे की फर्श पर पड़ा मिला। बेटी की मौत का पता लगने पर मायके पक्ष पहुंचा है। मृतका के पिता मुनीम सिंह ने पति सोनू, ससुर कारेंद्र सिंह व सास के खिलाफ दहेज हत्या का मुकदमा पंजीकृत कराया है। थानाध्यक्ष श्रवण कुमार तिवारी ने बताया कि घटना संदिग्ध है, जांच के आधार पर लगे आरोप सिद्ध हो सकेंगे।

Edited By: Abhishek Agnihotri