कानपुर, [जागरण स्पेशल]। लखनऊ में लक्ष्य से 36 दिन पहले काम खत्म करके बिना मेट्रो चलाए ही 18 करोड़ रुपये का लाभ कमाने वाले यूपी मेट्रो रेल कारपोरेशन का काम कोरोना की वजह से कानपुर में अपने समय से पीछे चल रहा है। आइआइटी से मोतीझील के बीच पहले कॉरीडोर में मेट्रो ने ट्रायल के लिए 31 जुलाई 2021 और यात्रियों के लिए मेट्रो चलाने के लिए 30 नवंबर 2021 की तारीख तय की थी, लेकिन अब नई स्थितियों में ट्रायल रन नवंबर 2021 और यात्रियों के लिए मेट्रो जनवरी 2022 में चलाने का लक्ष्य बनाया गया है। लेट होती मेट्रो को सही समय पर पटरी पर लाने के लिए कवायद तेज है। पेश हैं यूपी मेट्रो रेल कारपोरेशन के प्रबंध निदेशक कुमार केशव से हुई जागरण संवाददाता की लंबी बातचीत के प्रमुख अंश।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021