कानपुर, जेएनएन। सोशल मीडिया पर दुष्कर्म पीडि़ता की मौत के बाद गम और गुस्से का गुबार है। शुक्रवार रात से ही ट्विटर, फेसबुक और वाट्सएप समेत दूसरे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर यही प्रकरण छाया रहा। हैशटैग उन्नाव की बेटी, उन्नाव ट््रुथ, बेटी को न्याय दो... ट्रेंड होते रहे। कई चर्चित हस्तियों ने भी कमेंट लिखे। प्रतिक्रियाएं दीं। फेसबुक पर भी दिनभर दोषियों को मौत की सजा की मांग उठती रही।

  • क्या उन परिवारों का सामाजिक बहिष्कार होगा, जिन्होंने अपने दुष्कर्मी बेटों को दंडित करने के बजाय साथ खड़े होकर पीडि़ता को जिंदा जलाया? संसद में बैठे ठेकेदारों ने कानून न तब बनाया, न अब बनाएंगे तो हमारी आपकी जिम्मेदारी ज्यादा बढ़ जाती है।-डॉ. कुमार विश्वास, कवि
  • घटना के दोषी मौत की सजा के हकदार हैं। -पायल रोहतगी, अभिनेत्री
  • हैदराबाद एनकाउंटर...अब यूपी पुलिस का नंबर है। उन्नाव केस की पीडि़ता ने दम तोड़ा। -राजीव निगम, हास्य अभिनेता
  • उन्नाव की बिटिया जिंदगी की जंग हार गई। शुभम त्रिवेदी, शिवम त्रिवेदी, उमेश वाजपेयी, हरिशंकर त्रिवेदी, राम किशोर त्रिवेदी... देखना है देश इन दङ्क्षरदों के लिए क्या सजा मांगेगा।- डिंपल यादव, पूर्व सांसद
  • उन्नाव की एक बेटी सरकार द्वारा संरक्षित गुंडों का शिकार होकर जान गंवा बैठी। सफदरजंग अस्पताल में रेप पीडि़ता ने ही नहीं, सरकार के इकबाल, यूपी की कानून व्यवस्था ने भी दम तोड़ा है। एक चुनी सरकार पर जनता के विश्वास ने दम तोड़ा है। -सुनील सिंह यादव, एमएलसी

Posted By: Abhishek

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस