कानपुर, जेएनएन। शहर में तेज रफ्तार हवा के असर से तापमान में उतार चढ़ाव बना हुआ है। सुबह के समय कोहरा छाया रहेगा, जबकि दोपहर में धूप निकलेगी। वातावरण में नमी बनी रहेगी। न्यूनतम तापमान के मुकाबले अधिकतम तापमान में अधिक गिरावट होने की संभावना बनी है। तेज ठंडी हवाएं लोगों को गलन का अहसास करा रही हैं। वहीं सुबह सुबह कोहरा जनजीवन अस्तव्यस्त कर रहा है।

चंद्रशेखर आजाद कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय के मौसम विज्ञानी डॉ. एसएन सुनील पांडेय के मुताबिक बुधवार की शाम से आठ से 10 किलोमीटर प्रति घंटे की गति से हवा चली। बुधवार को अधिकतम तापमान 21.6 और न्यूनतम 11.0 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड हुआ। राजस्थान के नजदीक चक्रवाती हवा का क्षेत्र विकसित हो गया है, जबकि दूसरा क्षेत्र बंगाल की खाड़ी पर बना हुआ है। यह मैदानी क्षेत्रों की ओर चल रहे हैं। इनकी वजह से हवा में नमी बनी हुई है। बुधवार को अधिकतम आद्रता 97 फीसद रिकॉर्ड हुई। यह एक दिन पहले 94 फीसद थी।

उन्होंने बताया कि 22 जनवरी को जम्मू कश्मीर के नजदीक पश्चिमी विक्षोभ आ जायेगा, जिससे हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड में बर्फ गिरेगी और बारिश होगी। बर्फबारी का असर मैदानी क्षेत्रों में भी रहेगा। हांलाकि दिल्ली एनसीआर के ऊपर बारिश की आशंका कम बनी है। 26 जनवरी से उत्तर भारत के शहरों में फिर से सर्दी बढ़ेगी। कुछ जगहों पर हल्की बूंदाबांदी हो सकती है। पश्चिमी विक्षोभ के प्रभाव से मौसम बदलेगा। सुबह शाम कोहरा पड़ेगा, जबकि धुंध छाई रहेगी।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021