कानपुर, जेएनएन। नगर निगम सदन की शुरुआत हंगामे के साथ हुई, पहले तो पार्षदों ने विकास कार्य न होने और नाला सफाई को लेकर अफसरों को घेरा। वहीं सपा पार्षदों ने अफसरों द्वारा सपा के लिए चुनावी माहौल बनाने की बात कही तो भाजपा पार्षद भड़क गए और नारेबाजी शुरू कर दी। वहीं सपा पार्षद सुहेल अहमद ने हाउस टैक्स एरियर का मुद्​दा उठाया तो महापौर के पास भी कोई जवाब नहीं रहा।

कानपुर नगर निगम सदन महापौर प्रमिला पांडेय की मौजूदगी में मगंलवार की सुबह 11:15 बजे शुरू हुआ तो पार्षद नवीन पंडित ने जागेश्वर अस्पताल को चालू कराने के लिए मांग रखी। उन्होंने कहा चाचा नेहरु अस्पताल की तरह जागेश्वर अस्पताल चालू कराया जाए। इसके बाद उपसभापति कैलाश पांडे ने नगर निगम और जल कल का बजट पेश किया। बजट में विकास कार्यों में खर्च की बात सुनते ही पार्षदों ने हंगामा शुरू कर दिया। पार्षदों ने अफसरों पर विकास कार्य न कराने में लापरवाही का आरोप लगाया।

पार्षदों के हंगामे के बीच सपा पार्षद सुहेल अहमद ने कहा कि विकास कार्य न होने से भले ही जनता को परेशानी से जूझना पड़ रहा है लेकिन आने वाले चुनाव के लिए अधिकारी सपा के लिए अच्छा माहौल तैयार कर रहे हैं। समस्याओं से जूझ रही जनता के सामने सपा ही विकल्प होगी। इसपर दूसरे सपा पार्षदों ने भी हामी भरते हुए चुटकी लेना शुरू कर दिया। इस बात पर नाराजगी जताते हुए भाजपा पार्षद विरोध पर उतर आए और योगी-मोदी जिंदाबाद व जय श्रीराम के नारे लगाने शुरू कर दिये। शोर शराबा और हंगामा होते देखकर महापौर ने खड़े होकर सभी फटकार लगाई और शांत कराया। सपा पार्षद दल के नेता ने कहा साढ़े तीन साल बाद भी विकास के नाम पर कुछ नहीं हुआ है। नाली खड़ंजा सड़क को बनवाने को लेकर पार्षद जूझ रहे हैं। कहा, स्मार्ट सिटी के नाम पर खर्च हुए करोड़ों रुपये कहां गए, इसकी जांच होनी चाहिए। ऐसे बजट से क्या फायदा जो केवल दिखावा हो।

पार्षद ने उतारा कुर्ता तो महापौर ने लगाई फटकार

हंगामे के बीच पार्षदों ने विकास कार्य न होने का आरोप लगाया। पार्षद जेपी सचान, अरविंद यादव मनोज पांडे राजीव सेतिया ने नाली, नाला और सड़क की समस्या से जनता के परेशान होने और विकास न होने पर नारेबाजी शुरू कर दी। इस बीच पार्षद जेपी सचान ने कुर्ता उतारकर विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया। इसपर महपौर ने उन्हें फटकार लगाते हुए कहा कि सदन में महिलाएं बैठी हैं। आपकी ऐसी हरकत पर सदन से बाहर कर दिया जाएगा।

सुहेल अहमद के सवाल का नहीं मिला जवाब

सपा पार्षद सुहेल अहमद ने बढ़ा हुआ हाउस टैक्स 2016 से वसूले जाने पर आपत्ति जताई। उन्होंने कहा कि हम पार्षदों समेत जनता से 2016 से बढ़ा टैक्स वसूला जा रहा है। जबकि 2017 में नगर निगम का चुनाव लड़ते समय सभी पार्षदों को नगर निगम में कोई बकाया न होने की एनओसी दी गई थी। फिर अब 2016 से टैक्स बकाया दिखाकर एरियर कैसे वसूला जा रहा है। बढ़ा हुआ हाउस टैक्स की वसूली पूरी तरह से गलत है, ऐसे में या तो हाउस टैक्स का बकाया खत्म किया जाए या फिर एनओसी फर्जी दी गई है। उन्होंने कहा कि वह इस प्रकरण को कोर्ट में लेकर जाएंगे। उनके इस सवाल पर सदन में महापौर और अफसर भी कोई जवाब नहीं दे सके।

Edited By: Abhishek Agnihotri