कानपुर, जागरण संवाददाता। साहब! जमीन की बेदखल का वाद तहसील में दायर किया था जिस पर उप जिलाधिकारी ने लेखपाल से आख्या मांगी थी। लेखपाल आख्या लगाने के नाम पर पचास हजार रुपये की मांग करने लगे। घूस न देने पर लेखपाल ने गलत रिपोर्ट लगा दी। यह कहना था नर्वल तहसील समाधान दिवस में पहुंचे महाराजपुर ऐमा निवासी रामदेवी व मोहर सिंह का।

नर्वल तहसील में आयोजित संपूर्ण समाधान दिवस में शनिवार को एसडीएम अमित ओमर व सीओ ऋषिकेश सिंह ने लोगों की समस्याएं सुनी। ऐमा निवासी रामदेवी व मोहर सिंह ने क्षेत्रीय लेखपाल पर पचास हजार रुपये घूस मांगने का आरोप लगाते हुए शिकायत दर्ज कराई। आरोप है कि जमीन की बेदखली में आख्या लगाने के नाम पर लेखपाल ने पचास हजार रुपये की मांग की।रुपये न देने पर गलत रिपोर्ट लगा दी। तहसीलदार संजय ङ्क्षसह ने शिकायत सुनते हुए जांच कराने के बाद दोष सिद्ध होने पर कार्रवाई करने की बात कही। दीपापुर नर्वल के लोगों ने शिकायत करते हुए बताया कि मोहल्ले में पांच साल पहले बिजली के खंभे लगाए गए थे।लेकिन तार आजतक नहीं पड़े जिसके चलते लोग अंधेरे में जीने को मजबूर हैं। लोग दुश्वारियां झेल रहे हैं।

तहसीलदार ने बिजली विभाग के अधिकारियों को समस्या समाधान के निर्देश दिए। सरसौल नेवादा बौसर प्रधान पति समर यादव ने पंचायत भवन की मरम्मत व बाउण्ड्रीवाल का काम न हो पाने की शिकायत की। बरईगढ़ भीतरगांव के ग्रामीणों ने बताया कि चार साल पहले सांसद निधि से पानी की टंकी बनी थी। लेकिन एक चौथाई आबादी को अभी भी पानी नहीं मिल पा रहा है। एसडीएम ने जल निगम के अधिकारियों को समस्या दूर करने के निर्देश दिए। डोमनपुर महाराजपुर की महिलाओं ने कटरी की ग्राम समाज की जमीन पर भू माफिया व दबंगों द्वारा अवैध कब्जा किए जाने की शिकायत दर्ज कराई। एसडीएम ने लेखपाल व पुलिस को कार्रवाई के निर्देश दिए।

Edited By: Abhishek Agnihotri