कानपुर देहात, जागरण संवाददाता। जैनपुर अकबरपुर में सोमवार को मार्ग दुर्घटना में दो बालकों की मौत हो गई थी। पुलिस प्रशासन ने शव वाहन का इंतजाम करने की बात कही थी लेकिन मंगलवार को पोस्टमार्टम हो जाने के बाद तक वाहन का इंतजाम न हो सका।

घोर लापरवाही बरती गई और स्वजन करीब आधा किलोमीटर तक हाथ में शव लेकर चले। बाद में पुलिस पहुंची तो स्वजन ने नाराजगी जताई। तुरंत वाहन मंगाया गया और शव ले जाया जा सका। राज्यमंत्री प्रतिभा शुक्ला ने मामले में जांच कराने की बात कही है।

अकबरपुर के जैनपुर में सोमवार शाम आर्यन व अंश दो बालकों की मिनी ट्रक की चपेट में आकर मौत हो गई थी। आर्यन की छोटी बहन गुनगुन गंभीर घायल है। दुर्घटनास्थल पर एसपी, एएसपी, एसडीएम पहुंचे थे। उन्होंने हरसंभव मदद की बात कही थी और शव वाहन की भी व्यवस्था का भरोसा दिया था।

मंगलवार को पोस्टमार्टम हो जाने के बाद भी शव वाहन उपलब्ध न हो सका। अंश के स्वजन तो खुद से व्यवस्था कर शव ले गए। लेकिन आर्यन के घर वाले इंतजार करते रहे।परेशान होकर आखिर में करीब आधा किलोमीटर तक हाईवे तक हाथ में शव लेकर लोग चल पड़े।

जानकारी मिलते ही थाना प्रभारी अकबरपुर प्रमोद शुक्ला पहुंचे। स्वजन ने उनसे नाराजगी जताई। उन्होंने सभी को शांत कराते हुए तुरंत वाहन मंगाया और इसके बाद शव ले जाया गया। आर्यन के पिता दीपक ने बताया कि पुलिस प्रशासन की तरफ से कोई व्यवस्था नहीं की गई पोस्टमार्टम के कागज भी आने में देर हुई।

महिला कल्याण एवं बाल विकास पुष्टाहार राज्यमंत्री प्रतिभा शुक्ला ने बताया कि जांच कराई जाएगी जिसकी लापरवाही होगी कार्रवाई होगी।वहीं घायल बच्ची का इलाज विधायक निधि से कराया जाएगा। 

Edited By: Nitesh Mishra

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट