संस, बिठूर : अखंड शिवधाम आश्रम विवाद में गुरुवार को स्वामी ब्रजानन्द अवधूत ने विहिप कार्यकर्ताओं के साथ पुलिस आयुक्त असीम अरुण से मिले और स्वामी स्वयं प्रकाशानंद की मौत के पीछे साजिश होने की बात कहकर दो पन्ने का ज्ञापन सौंपा। ब्रजानन्द अवधूत ने दिए ज्ञापन में लिखा की उन्हें स्वामी स्वयं प्रकाशानंद की मौत की खबर समाचार पत्रों के माध्यम से मिली। दिवंगत महंत की हत्या के बाद साक्ष्य मिटाने की बात भी उन्होंने ज्ञापन में लिखी है। इसके साथ ही डा. रेनू तिवारी और उनके पति डा. सुधीर तिवारी द्वारा अनुचित ढंग से आश्रम के कागजात तैयार कराने का आरोप भी लगाया। आरोप है कि ब्रह्मलीन स्वामी जी के कक्ष से महत्वपूर्ण कागजात और धन गायब कर दिया गया है। उनके मुताबिक वर्ष 2015 में बने ट्रस्ट में डा. सुधीर तिवारी का नाम था, लेकिन बाद में आश्रम की कार्यप्रणाली और पवित्रता के अनुरूप न होने के चलते स्वामी स्वयं प्रकाशानंद ने डा सुधीर तिवारी का नाम ट्रस्ट से हटा दिया। ज्ञापन सौंपने वाले में स्वामी ब्रजानन्द अवधूत, विहिप जिला महामंत्री अभिषेक दीक्षित,बजरंग दल से प्रांत सुरक्षा प्रमुख आशीष गुप्ता, जिला संयोजक नरेश तोमर और पूर्व राष्ट्रीय संयोजक प्रकाश शर्मा और ब्रह्मावर्त उत्थान परिषद के संयोजक अनिल दुबे शामिल रहे।

विहिप ने भी सौंपा ज्ञापन

अखंड शिवधाम मामले में विहिप की ओर से भी एक ज्ञापन पुलिस आयुक्त को सौंपा गया। ज्ञापन में स्वामी ब्रजानन्द के द्वारा सौंपे गए ज्ञापन में लगाए गए आरोपों की गहनता से जांच कराने की मांग की गई है। इसके साथ ही आश्रम को कब्जे से मुक्त कराने की मांग की और कहा स्थानीय पुलिस की भूमिका भी जांच करने की मांग की।

अहिप ने की उच्च स्तरीय जांच की मांग : अंतरराष्ट्रीय हिन्दू परिषद राष्ट्रीय व बजरंग दल ने आपात बैठक प्रांत अध्यक्ष अतुल द्विवेदी के निवास पर की और अखंड शिवधाम आश्रम बिठूर में हो रही घटनाओं की उच्चस्तरीय जांच की मांग की। उन्होंने साध्वी सतरूपा का समर्थन करते हुए उनके द्वारा दिए गए प्रार्थना पत्र पर बिठूर पुलिस द्वारा कोई कार्रवाई न किए जाने को लेकर इंटरनेट मीडिया पर एक वीडियो भी शेयर किया। अहिप के प्रांत महामंत्री रामजी तिवारी ने बताया आश्रम विवाद को लेकर एक प्रतिनिधिमंडल जल्द ही कानपुर कमिश्नर और जिलाधिकारी से मिलेगा।

जिलाधिकारी ने बनाई कमेटी, सात दिनों में देगी रिपोर्ट : अखंड शिवधाम आश्रम विवाद में डीएम आलोक तिवारी ने पुलिस व प्रशासन की संयुक्त टीम गठित कर दी है। उन्होंने बताया कि डीसीपी पश्चिम संजीव त्यागी और एडीएम सिटी अतुल कुमार को जांच दी गई है। उनसे दोनों पक्षों की दलीलें और कागजात देखकर सात दिनों के भीतर रिपोर्ट देने के लिए कहा गया है।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप