बांदा, जेएनएन। मध्य प्रदेश से पति व देवर आए और मायके में रह रही महिला की चाकू से गोदकर हत्या के बाद फरार हो गए। पिता ने दहेज में 50 हजार रुपये की मांग पूरी न करने पर हत्या का आरोप लगाया है, वहीं ग्रामीणों में दबी जुबान कुछ और खिचड़ी पक रही है। फिलहाल पुलिस आरोपितों की तलाश कर रही है और घटना को लेकर कई सवाल बने हुए हैं।

तीन साल पहले हुई थी शादी

देहात कोतवाली क्षेत्र के ग्राम महोखर निवासी रामराज रैदास ने 23 वर्षीय बेटी पूनम की शादी तीन वर्ष पहले मोहल्ला राजनगर खजुराहो मध्य प्रदेश निवासी कमलेश के साथ की थी। शादी के बाद ही पति-पत्नी में अनबन हो गई थी। रक्षाबंधन के कुछ दिन पहले पति ने उसकी पिटाई कर दी थी। इस पर पिता रामराज बेटी को ले आया था।

इस तरह दिया घटना को अंजाम

शनिवार की दोपहर रामराज पत्नी रजनी के साथ मंझली बेटी श्यामकली के यहां ग्राम मनिया खजुराहो गए थे। पुत्र शिव, अरविंद व बेटी लक्ष्मी भी साथ गई थी। घर में पूनम व उसकी तीन अन्य बहनें रोशनी, सपना व मधु थीं। शाम को पति कमलेश व देवर नरेश बाइक से घर आए और पूनम की चाकू से गोदकर हत्या कर दी। छोटी बहनों ने शोर मचाया तो घटना की जानकारी पड़ोसियों को हुई।

परिजनों ने बताई ये बात

सीओ सदर राघवेंद्र सिंह व कोतवाली प्रभारी रामआसरे ने मौका मुआयना कर मृतका के पिता व बहनों के बयान दर्ज किए। पिता ने बताया कि बेटी की शादी में उसने करीब ढाई लाख रुपये दान दहेज दिया था। इसके बावजूद ससुरालीजन 50 हजार रुपये मांग रहे थे। मृतका छह बेटियों में सबसे बड़ी थी। छोटी बहन रोशनी ने बताया कि जीजा व उनके भाई जब घर आए तो वह बहन के पास ही थी।

आने के बाद दोनों ने खाना खाया इसके बाद गुटखा खाया। इसके बाद रोशनी 13 वर्षीय बहन सपना व 11 वर्षीय बहन मधु के साथ बाहर निकल आई थी। इसी बीच जीजा के भाई नरेश ने बाहर से कुंडी बंद कर दी और पूनम पर चाकुओं से कई वार किए। बहन चीखती रही लेकिन वह बचाने के लिए नहीं आ सकी। पेट, हाथ व गले में 8 से 9 बार हमला किया। छत के रास्ते से अंदर पहुंची तो दोनों बाइक के भाग रहे थे।

घटना को लेकर कई सवाल अधूरे

जिस तरह से महोखर गांव में हत्या की घटना हुई है। उसमें ग्रामीणों का दबी जुबान कहना रहना की दहेज की खातिर कोई इस तरह पत्नी की हत्या नहीं कर सकता है। उसे अगर दहेज के लिए पत्नी की हत्या करनी होती तो रक्षा बंधन के समय ही वह मौत के घाट उतार देता। घटना के पीछे कई तरह के सवाल खड़े हो रहे है। हत्या के पीछे कई और रहस्य छिपे हो सकते हैं जो कि पुलिस की पूरी जांच व आरोपितों की गिरफ्तारी के बाद ही सामने आ सकते हैं।

फारेंसिक टीम ने लिए नमूने

घटना के बाद एएसपी लाल भरत कुमार पाल भी गांव पहुंचे। इसके पहले फारेंसिक टीम ने भी घटनास्थल से कई नमूने लिए हैं। देर शाम पिता की तहरीर पर पुलिस ने हत्यारोपित पति व देवर के विरुद्ध हत्या सहित विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज किया है। कोतवाली प्रभारी का कहना था कि अभी तहरीर नहीं मिली है। जल्द ही आरोपितों को गिरफ्तार कर जेल भेजा जाएगा। सीमावर्ती गैर जनपदों में घटना की सूचना देकर आरोपितों का हुलिया व बाइक की स्थिति की जानकारी दी गई है। हत्यारोपित फेरी लगाता है।

Posted By: Abhishek

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस