भगवान जगन्नाथ के स्वास्थ्य लाभ के लिए बाईजी मंदिर में हुआ हवन पूजन

जागरण संवाददाता, कानपुर: शहर में भगवान जगन्नाथ रथयात्रा का उत्सव एक और दो जुलाई को धूमधाम से मनाया जाएगा। इसके लिए जनरलगंज स्थित भगवान जगन्नाथ गली में बाईजी मंदिर के साथ बिरजी भगत और उमा जगदीश मंदिर में तैयारी जोरों पर चल रही हैं। बाईजी मंदिर में भगवान के स्वास्थ्य लाभ के लिए विधिवत हवन पूजन किया गया। वहीं, नए रथ पर भगवान को विराजमान करने और नगर भ्रमण की अंतिम तैयारी परखी गई। शहर में पुरी के भगवान जगन्नाथ मंदिर की तर्ज पर लगभग 250 वर्षों से रथयात्रा का आयोजन किया जा रहा है। पिछले दो वर्षों में कोरोना की बंदिशों के कारण रथयात्रा का आयोजन नहीं हो सका था। इस बार भगवान पूरे नगर का भ्रमण कर भक्तों को दर्शन देंगे।

बुधवार को जनरलगंज स्थित प्राचीन बाईजी मंदिर में भगवान जगन्नाथ, बहन सुभद्रा और भ्राता बलभद्र के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ के लिए हवन पूजन किया गया। महामंडलेश्वर श्रीकृष्ण दास और जितेंद्र दास महाराज के साथ बाईजी मंदिर के मुख्य पुजारी दिवाकर शुक्ला ने स्वास्थ्य लाभ के लिए आहुतियां अर्पित कीं। वर्षों से चली आ रही परंपरा का पालन करते हुए रथयात्रा से जुड़े भक्तों ने भगवान का स्मरण कर जल्द दर्शन देने की कामना की। मुख्य पुजारी दिवाकर शुक्ला ने बताया कि हवन पूजन के बाद भक्तों में प्रसाद वितरण किया जाएगा। स्वस्थ होने के बाद भगवान को 30 जून को मंदिर में विराजमान किया जाएगा। हालांकि भक्तों को भगवान के दर्शन रथयात्रा में ही होंगे। कोरोना संक्रमण की बंदिशों के कारण भगवान की प्राचीन रथयात्रा का आयोजन दो वर्षों से नहीं हो सकता था। इसलिए इस बार भव्य आयोजन की तैयारी बाईजी, बिरजी भगत और उमा जगदीश में चल रही है।

-----

भगवान इस बार नए रथ पर सवार होकर भक्तों को दर्शन देंगे। रथयात्रा में भगवान के दरबार के साथ विभिन्न प्रकार की झांकियां शामिल की जाएंगी।

- श्रीकृष्ण दास महाराज, महामंडलेश्वर।

----

प्राचीन परंपरा का पालन करते हुए इस बार भी भव्य रथयात्रा का आयोजन करने की तैयारी चल रही है। पुष्पवर्षा कर शहरवासी भगवान का स्वागत करेंगे। भक्तों को भगवान का दिव्य रूप दिखेगा।

-जितेंद्र दास महाराज, महामंडलेश्वर।

Edited By: Jagran