जेएनएन, कानपुर : संजीत अपहरण और हत्याकांड के सात आरोपितों पर गैंगस्टर की कार्रवाई की जा रही है। डीआइजी ने थाना पुलिस की रिपोर्ट पर स्वीकृति देने के साथ गैंग चार्ट अनुमोदन के लिए जिलाधिकारी को भेजा है। 22 जून को बर्रा निवासी लैब टेक्नीशियन संजीत यादव को दोस्तों ने पार्टी के बहाने अगवा किया था। अपहर्ता उसे रतनलाल नगर के एक किराए के मकान में ले गए थे। जहां उसे बंधक बनाकर रखा था। अपहर्ताओं ने 27 जून को उसकी गला कसकर हत्या करने के बाद शव प्लास्टिक की बोरी में भरकर बर्रा के फत्तेपुर स्थित लोहे वाले पुल से पांडु नदी में फेंका था। हत्या के बाद साथियों के उकसाने पर अपहर्ताओं ने संजीत के स्वजन से 30 लाख रुपये की फिरौती मांगी थी। 24 जुलाई को बर्रा पुलिस ने सर्विलांस टीम की मदद से ज्ञानेंद्र, रामजी शुक्ल, कुलदीप, नीलू व प्रीति को गिरफ्तार कर मामले का राजफाश किया था। उसके बाद पुलिस ने चीता, सिम्मी सिंह और फर्जी आइडी पर अपहर्ताओं को सिमकार्ड बेंचने वाले दुकानदार केके तिवारी को गिरफ्तार कर जेल भेजा था। 23 अक्टूबर को पुलिस ने आठ आरोपितों के खिलाफ न्यायालय में चार्जशीट दाखिल की थी। मामले में पुलिस ने नवंबर अंतिम सप्ताह में आरोपितों पर गैंगस्टर की कार्रवाई की प्रकिया शुरू की थी। जनवरी माह की शुरुआत में बर्रा पुलिस ने गैंग चार्ट तैयार करके डीआइजी को भेजा था। एसपी साउथ दीपक भूकर ने बताया कि मामले में सात आरोपितों के खिलाफ गैंगस्टर की कार्रवाई की जा रही है। सिम बेचने के आरोपित को इसमें शामिल नहीं किया गया है। गैंग चार्ट में गुजैनी रविदासपुरम निवासी रामजी शुक्ल को गैंग लीडर बनाया गया है। डीआइजी की स्वीकृति हो गई है। गैंगचार्ट अनुमोदन के लिए जिलाधिकारी को भेजा गया है। बाइक सवारों ने कार में चलाए ईंट पत्थर, फायरिग, कानपुर : नौबस्ता के राजीव नगर में बाइक सवारों ने पीछा करने के बाद कार में ईंट-पत्थर चलाए। आरोप है कि कार सवार को खींचकर पीटने का प्रयास भी किया। कार सवार के दौड़ाने पर हमलावर हवाई फायरिग करते हुए भाग निकले। नौबस्ता के राजीव नगर निवासी आलोक मिश्र एक चप्पल कंपनी के मालिक की गाड़ी चलाते हैं। रात में ड्यूटी से छूटने के बाद वह एक समारोह में शामिल होने के लिए गए थे। वहां से देर रात वापस लौटने के दौरान घर से कुछ दूरी पर बाइक सवारों ने कार के आगे गाड़ी लाकर रोका और ईंट-पत्थर चलाकर शीशा तोड़ दिया। आलोक के मुताबिक हमलावरों ने कार से खींचकर पीटने का प्रयास किया। कार से उतरकर उन्होंने हमलावरों को ललकारा तो वह लोग तमंचे से हवाई फायरिग करते हुए मौके से भाग निकले। इस पर उन्होंने कंट्रोल रूम को सूचना दी। पीआरवी और नौबस्ता पुलिस घटनास्थल पहुंची और आलोक से पूछताछ की। आलोक का कहना है कि हमलावरों ने एक को उन्होंने पहचाना है। उनके घर से तीन गली पीछे रहता है। आए दिन वह लोग मोहल्ले में आकर नशेबाजी करते थे। जिसका विरोध उन्होंने किया था। आरोप है कि नशेबाजी के विरोध पर ही हमलावरों ने घटना को अंजाम दिया है। थाना प्रभारी सतीश सिंह का कहना है कि मामले की जांच की जा रही है। फायरिग की अभी पुष्टि नहीं हुई है। तहरीर पर रिपोर्ट दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप