कानपुर, जागरण संवाददाता। जीएसवीएम मेडिकल कालेज के नव प्रवेशी छात्रों को छोटे बाल, हाथ पीछे और सिर झुकाकर लाइन लगाकर परिसर में स्थित कक्षा से हास्टल तक आते-जाते हैं। अपने हास्टल के सामने पहुंचते ही नमस्ते डाक्टर साहब जोर-जोर से कहते हुए चल रहे हैं। परिसर में हास्टल के सामने से लाइन में गुजरते नव प्रवेशी छात्रों का वीडियो इंटरनेट मीडिया पर वायरल होने पर प्राचार्य ने झूठा और छेड़छाड़ कर बनाने की बात कही है। उन्होंने अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ स्वरूप नगर थाने में तहरीर भी दी है।

एक सप्ताह पहले बनाया गया वीडियो इंटरनेट मीडिया पर वायरल

  • जीएसवीएम मेडिकल कालेज परिसर में एक सप्ताह पहले बनाया गया वीडियो इंटरनेट मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है।
  • इस वीडियो में मेडिकल कालेज के एमबीबीएस वर्ष 2022 के पैरा क्यू-टू बैच के नव प्रवेशी छात्र लाइन लगाकर ब्वायज हास्टल यानी बीएच पांच जाते हुए दिखाई पड़ रहे हैं।
  • उनमें से अधिकतर के बाल छोटे हैं, सभी अपने हाथ पीछे किए हुए हैं और सिर झुकाए हैं। उनका वीडियो कार में बैठा व्यक्ति बना रहा है, जो पूछ रहा है कि किस बैच के हो, मैं तुमसे 26 वर्ष सीनियर हूं।
  • इस दौरान यह भी कह रहा है कि अपना सिर ऊपर उठा लो, कोई कुछ नहीं कहेगा। जब सभी छात्र अपने बीएच-5 के सामने पहुंचते ही नमस्ते डाक्टर साहब जोर-जोर से कहने हैं।

वीडियो बनाने वाला व्यक्ति यह कहता है कि यह रैगिंग वाले छात्र हैं। इसी तरह छात्राएं भी हास्टल तक आती हैं। हालांकि दैनिक जागरण वायरल वीडियो की पुष्टि नहीं करता है।

जीएसवीएम मेड‍िकल कालेज के प्रचार्य डा संजय काला ने बताया क‍ि यह किसी की बदमाशी है। परिसर में नव प्रवेशी छात्र सुरक्षा गार्डों के घेरे में आते जाते हैं। वीडियो में दिख रहा है कि वहां कोई भी सीनियर छात्र मौजूद नहीं है। उनसे बात करने की किसी को इजाजत भी नहीं है। वीडियो बनाने वाला व्यक्ति कोई वरिष्ठ डाक्टर है।वीडियो को वायरल करने से पहले उसमें एडिटिंग एवं छेड़छाड़ की गई है। इससे महानिदेशक, चिकित्सा शिक्षा और मुख्यमंत्री कार्यालय को अवगत करा दिया है। वीडियो वायरल करने वाले अज्ञात के खिलाफ एफआइआर दर्ज कराने को तहरीर दी है। यह मेडिकल कालेज को बदनाम करने की साजिश है।

Edited By: Prabhapunj Mishra

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट