उन्नाव, जेएनएन। सरेराह आरोपितों द्वारा जलाने पर गंभीर रूप से झुलसी दुष्कर्म पीडि़ता की मौत की खबर देर रात गांव पहुंचते ही मातम छा गया। रिश्तेदार व परिचित शोक जताने के लिए पिता के पास पहुंचने लगे हैं। पिता व भाई ने शव नदी में बहाने से इंकार करते हुए दफनाने की बात कही है। इसपर पुलिस प्रशासन ने कब्रिस्तान में चिह्नित स्थान पर कब्र खोदने की तैयारी शुरू कर दी है। वहीं गांव में कई थानों का फोर्स भी तैनात किया गया है और सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं। दिल्ली से पीडि़ता का शव लेकर प्रशासनिक अफसर उन्नाव के लिए रवाना हो चुके हैं, दोपहर तक आने की उम्मीद है।

नई दिल्ली के सफदरगंज अस्पताल में भर्ती दुष्कर्म पीडि़ता के दम तोडऩे की खबर आने के बाद घर पर मातमी सन्नाटा पसरा है। परिवार से मिलने के लिए आने वाले हर शख्स से पुलिस पूछताछ करने के बाद ही घर में जाने दे रही है। बिरादरी के दूसरे घरों पर भी पुलिस की सतर्क निगाह है। शनिवार भोर पहर से गांव में बारासगवर, बीघापुर और अचलगंज थानों का फोर्स पहुंच गया। एसडीएम बीघापुर के साथ सीओ सुबह ही गांव पहुंच गए हैं और परिवार से बात करने के साथ दोनों ने सुरक्षा बंदोबस्त भी देखे।

सड़क मार्ग से लाया जा रहा शव

जिला गौतमबुद्ध नगर और गाजियाबाद के अधिकारियों की देखरेख में दुष्कर्म पीडि़ता का शव सड़क मार्ग से लाया जा रहा है। आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस से पूरी सुरक्षा के साथ अधिकारी शव को उन्नाव लेकर आ रहे हैं। माना जा रहा है कि 6:30 घंटे में शव लेकर अफसर गांव पहुंचेंगे। रास्ते में पडऩे वाले जिले की पुलिस स्कॉट करेगी। इस दौरान पूरे समय गाजियाबाद के डीएम हरिशंकर पांडेय मौजूद रहेंगे। 

पैतृक भूमि पर दफन होगा शव

पीडि़ता के गांव के पड़ोस के गांव में परिवार की पैतृक जमीन पर शव को दफनाया जाएगा। पीडि़ता के पिता से बातचीत के बाद तहसील प्रशासन ने अंत्येष्टि स्थल को देखने के साथ कब्र खोदने का स्थान चिंहित किया है। बहन की मौत के बाद मीडिया के सामने आए भाई ने कहा है कि बहन को हमने वादा किया था कि उसे बचा लेंगे लेकिन नहीं बचा पाये। अपनी बहन के शव को न गंगा में बहाएंगे और न ही आग के हवाले करेंगे। उसे धरती मइया की गोद मे देंगे। मेरी बहन की पहले ही अग्निपरीक्षा हो चुकी है, इसलिए उसका शव दफन कर धरती मां की गोद मे सुलाएंगे।

Posted By: Abhishek

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस