कानपुर, जेएनएन। फतेहपुर के ललौनी थाने के उरौली गांव में यमुना में नहाने गईं पांच सहेलियां पानी के भंवर में फंस गईं, जिससे उनकी चीखपुकार सुनकर स्थानीय लोगों ने गोताखोरों को आवाज दी। इस दौरान चार को सही सलामत बचा लिया गया, जबकि एक का कुछ बता नहीं चल सका।

उरौली गांव के अजय पाल की 14 वर्षीय बेटी गुंजन, रामधनी की 19 वर्षीय बेटी ऊषा, जुग्गीलाल विश्वकर्मा की 17 वर्षीय बेटी सोनम, कल्लू की 18 वर्षीय बेटी श्रद्धा व रीना यमुना स्नान करने गईं थीं। पांचों बेटियां डूबने लगी तो स्थानीय लोगों ने चीख पुकार मचाई, जिसके बाद गोताखोरों ने यमुना में छलांग लगाकर गुंजन, ऊषा, सोनम व श्रद्धा को निकाल लिया, लेकिन रीना अब भी लापता है। मामले की सूचना पर एसडीएम प्रमोद झा व थानाध्यक्ष संदीप तिवारी पहुंचे। गुंजन और ऊषा की हालत खराब होने के बाद जिला अस्तपला लाया गया है, जहां अब वह स्वस्थ्य है, जबकि सोनम व श्रद्धा बिल्कुल ठीक है, जिससे उन्हेंं घर में ही रखा गया है।