फर्रुखाबाद, जेएनएन। कोरोना वायरस से बचाव के लिए यूपी के सभी जिलों में घोषित लॉकडाउन के चलते लोगों को सड़कों पर निकलने की रोक है और सार्वजनिक कार्यक्रम करने पर पाबंदी है। जरूरी कार्यक्रम होने पर दस से ज्यादा लोगों के न होने की हिदायत दी गई है। लॉक डाउन के बीच शहर में एक परिवार को तेरहवीं संस्कार में भीड़ एकत्र करना भारी पड़ गया। सूचना पर पुलिस चार भाइयों को पकड़कर थाने ले गई।

कोराेना वायरस से बचाव के लिए घोषित लॉकडाउन में शादी आदि कार्यक्रम में भीड़ एकत्र न करने की पाबंदी है। जरूरी होने पर सिर्फ दस लोगों की मौजूदगी की छूट दी गई है, वह भी सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने के साथ। इन सबके बावजूद मोहम्मदाबाद कोतवाली क्षेत्र के गांव पिपरगांव निवासी रामसनेही का निधन हो गया था। उनके पुत्र अमरेंद्र सिंह, सतेंद्र सिंह, देवेंद्र सिंह, उपेंद्र सिंह ने बुधवार को तेहरवीं संस्कार कर आयोजन किया था। इस कार्यक्रम में 40-50 लोग एकत्र हुए थे। इसपर किसी ने भीड़ एकत्र करने की सूचना पुलिस को दी।

जानकारी मिलते ही क्षेत्रीय दारोगा रामशरण यादव मौके पर पहुंच गए और कोरोना वायरस के चलते भीड़ एकत्र न करने की बात कही। इसके बाद मौजूद लोगों को अपने अपने घरों को भेज दिया और चारों भाईयों को पकड़कर थाने ले गए। चारों के खिलाफ जिले में लागू धारा 144 का उल्लंघन करने की रिपोर्ट दर्ज कराई। पुलिस के अनुसार बाद में थाने से जमानत के साथ हिदायत देकर चारों भाइयों को छोड़ दिया गया है।

Posted By: Abhishek

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस