कानपुर, जागरण संवाददाता। अरौल चौकी क्षेत्र के आंकिन गांव के पास खेत में ट्यूबवेल की कोठरी के कुएं में किसान का शव पड़ा मिला। शव के ऊपर खाद की बोरी पड़ी होने से स्वजन व ग्रामीणों ने हत्या की आशंका व्यक्त की। मौके पर पहुंचे सीओ व इंस्पेक्टर ने जांच पड़ताल शुरू की।

धौराहरा गांव निवासी नरेंद्र कुमार ने बताया कि बड़े भाई 42 वर्षीय अरविंद कुमार उर्फ पप्पू पुत्र पाती लाल सविता की 15 वर्ष पूर्व शादी हुई थी। शादी के तीन वर्ष बाद पत्नी छोड़ कर चली गई थी। बीते 12 वर्ष से भाई अरविंद आंकिन गांव निवासी रामखेलावन के साथ उसी गांव के विजयकांत का खेत ठेके पर लेकर खेती-बाड़ी करते थे। और गांव से आधा किलोमीटर दूर खेत पर बनी सबमर्सिबल पंप की कोठरी में ही रहते थे। शुक्रवार सुबह भाई अरविंद का शव कोठरी में बने 40 फीट गहरे कुएं में पड़ा होने की पुलिस द्वारा सूचना मिली। शव के ऊपर खाद की बोरियां पड़ी थी। जानकारी पर स्वजन व ग्रामीण मौके पर पहुंचे। पुलिस ने ग्रामीणों की सहायता से शव कुएं से बाहर निकलवाया। मृतक के शरीर पर चोट के निशान देख स्वजन ने हत्या कर शव कुएं में फेंके जाने की आशंका व्यक्त की। मौके पर पहुंचे सीओ राजेश कुमार व इंस्पेक्टर जितेंद्र कुमार शर्मा ने जांच पड़ताल की। इंस्पेक्टर ने बताया कि मृतक व उसके दो तीन साथियों द्वारा गुरुवार को ट्यूबवेल के पास बाग में शराब पार्टी किए जाने की जानकारी हुई है। नशेबाजी के दौरान युवक के कुएं में गिरने या धक्का दिए जाने की आशंका प्रतीत हो रही है। मृतक के साथी रामखेलावन ने ही सुबह कुएं में शव पड़ा होने की चौकी पर जानकारी दी थी। फॉरेंसिक टीम को मौके पर बुलाया गया है। अभी कोई तहरीर नहीं मिली है पोस्टमार्टम रिपोर्ट व तहरीर के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी।

स्वजन ने पुलिस को दी विवाद की जानकारी

भाई नरेंद्र कुमार ने पुलिस को पूछताछ में बताया कि अरविंद व रामखेलावन ने साझे में आलू किया था। अभी कुछ दिन पूर्व रामखेलावन ने आलू की बिक्री की थी। जिसका पचास हजार रुपया वह भाई को नहीं दे रहे थे। इसकी भाई ने उन्हें जानकारी दी थी।

Edited By: Abhishek Agnihotri