औरैया, जेएनएन। फफूंद के गांव खगीपुर में बुधवार की सुबह कच्चा मकान भरभरा के गिरने से अंदर रहे दंपती व बच्चे दब गए। तेज धमाके की आवाज सुनकर ग्रामीणों में चीख पुकार मच गई और आनन फानन सभी घायलों को मलबे से बाहर निकालकर एंबुलेंस से सीएचसी भेजा। अस्पताल में चार की गंभीर हालत देखकर चिकित्सकों ने सैफई रेफर कर दिया।

खगीपुर गांव निवासी हाकिम सिंह मजदूरी करता है और कच्ची दीवारों पर छप्पर रखकर परिवार के साथ रह रहा था। कई बार आवेदन के बाद भी उसे आवास आवंटित नहीं हो सका। मंगलवार की रात हाकिम सिंह अपने परिवार के साथ कच्चे मकान के अंदर सो रहा था। बुधवार भोर पहर करीब पांच बजे अचानक कच्ची दीवार गिर गई, जिससे हाकिम सिंह, उसकी पत्नी रजनी व बच्चे मोना, विमला, उपेंद्र, उत्सव दब गए।

चीख पुकार सुनकर गांव के लोग दौड़े और मलबे में दबे परिवार को बहार निकाला। गांव वालों ने पुलिस व एंबुलेंस को सूचना दी। पुलिस ने एंबुलेंस से घायलों को दिबियापुर सीएचसी भर्ती कराया। डॉक्टरों ने गंभीर हालत में हाकिम सिंह व मोना, विमल व उपेंद्र को सैफई रेफर किया गया है। राजस्व टीम ने गांव पहुंचकर मुआयना किया। ग्रामीणों का आरोप है कि मनमानी के कारण कई गरीबों को आवास आवंटन नहीं हो सका है और कच्चे मकान में रहने को मजबूर हैं।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस