कानपुर, जेएनएन। बिधनू के घनी आबादी वाले द्विवेदी नगर में सोमवार देर शाम उस समय लोग दहल गए जब एक मकान में भीषण धमाका हो गया। धमाके से दरवाजे और खिड़कियों के पल्ले तक उड़ गए। रसोई व कमरों की दीवारें भी दरक गईं। मकान में अवैध विस्फोटक उतारते समय धमाके में 20 वर्षीय सागर गुप्ता की मौत हो गई, जबकि उसके तीन दोस्त मूलरूप से नर्वल बेहटा गांव निवासी 18 वर्षीय प्रखर, उसके 17 वर्षीय भाई नमन व किरायेदार के बेटे अमित समेत चार लोग घायल हो गए।

प्रखर को यशोदा नगर के एक नर्सिगहोम में भर्ती कराया था जहां से हैलट आते समय वह फरार हो गया। एसएसपी अनंत देव ने आतंकवाद रोधी दस्ता, बम निरोधक दस्ते व सीएफओ की टीम को बुलाकर जांच कराई। देर रात लापरवाही बरतने में सेन पश्चिमपारा चौकी प्रभारी देवेंद्र सिंह व बीट सिपाही शिवम यादव को निलंबित कर दिया। घटना की जांच एसपी ग्रामीण प्रद्युम्न सिंह को दी है।

द्विवेदी नगर स्थित सुमन वर्मा के मकान के पिछले हिस्से में नर्वल थाना के गांव पाली बेहटा निवासी ट्रक चालक श्रीराम साहू, पत्नी संतोष, बेटा प्रखर व नमन के साथ दो साल से किराए पर रह रहे हैं। आगे के हिस्से में फतेहपुर ङ्क्षबदकी निवासी चुन्नीलाल गुप्ता, पत्नी शारदा, बेटे अमित गुप्ता, छोटू व अमन के साथ रहते हैं। सोमवार की शाम प्रखर व नमन, पड़ोस में रहने वाले सागर के साथ दैमार बम बनाने के लिए बारूद, पोटाश आदि सामान ई-रिक्शा से लेकर आए थे। विस्फोटक सामग्री उतारकर कमरे में रख रहे थे, तभी तेज धमाका हुआ।

प्रखर, नमन व सागर गंभीर रूप से घायल हो गए। आगे के कमरे में सो रहा चुन्नी लाल का बेटा अमित व ई रिक्शा चालक भी घायल हो गया। सागर की हालत गंभीर देख उसे एलएलआर अस्पताल रेफर कर दिया गया। जहां सागर की मौत हो गई। एसएसपी अनंतदेव तिवारी ने बताया कि युवक दीपावली पर पटाखा बम बनाने के लिए विस्फोटक सामग्री लाए थे। ई-रिक्शा से उतारते वक्त उसमें धमाका हुआ है, जिसमें एक युवक की मौत हो गई। चौकी प्रभारी व सिपाही को निलंबित कर घटनाक्रम की जांच कराई जा रही है। दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस