कानपुर, जेएनएन। कानपुर में बुधवार देर शाम आई तेज आंधी के चलते एडीजी जोन भानु भास्कर के आवास के पिछले हिस्से की दीवार भरभरा कर ढह गई। हादसे में गंगा स्नान करके लौट रहे सतरंजी मोहाल निवासी 80 वर्षीय बुजुर्ग की गुरुवार को इलाज के दौरान मौत हो गई। हादसे में दो अन्य लोगों को भी मामूली चोट आई है। जानकारी पाकर पुलिस मौके पर पहुंची और दीवार का मलबा हटवाकर रास्ता साफ कराया।

कलक्टरगंज थानाक्षेत्र के सतरंजी मोहाल में रहने वाले 80 वर्षीय कृपाशंकर तिवारी अपने भांजे अमित मिश्रा के साथ रहते थे। अमित ने बताया कि मामा जी रोजाना साइकिल लेकर गंगा स्नान करने जाते थे। बुधवार देर शाम भी वह गुप्तार घाट पर गंगा स्नान करने गए थे।

घाट से जैसे ही वापस आने लगे तो रास्ते में एडीजी बंगले के बाहरी हिस्से की दीवार भरभरा कर ढह गई। मलबे में दबने से उन्हेंं गहरी चोट आई। मलबे की चपेट मैं आकर गार्ड के पास रहने वाले धागा कारीगर राजू व आटो चालक विनोद कश्यप को भी मामूली चोट आई। आसपास के लोग कृपाशंकर को हैलट अस्पताल ले गए, जहां गुरुवार सुबह इलाज के दौरान मौत हो गई।

कोतवाली थाना प्रभारी रण बहादुर सिंह ने बताया कि आंधी में दीवार गिरने से एक वृद्ध की मौत हुई है। शव का पोस्टमार्टम कराया जा रहा है। गुप्तार घाट के रास्ते में पड़ा दीवार का मलबा हटवा दिया गया है और वहां एक कांस्टेबल भी तैनात किया गया है। 

Edited By: Akash Dwivedi