कानपुर, जागरण टीम। Dussehra Ravan Dahan 2022 : कानपुर के आसपास जिलों में भी बुधवार को बारिश से दशहरा मेला में आफत रही लेकिन देर रात किसी तरह रावण दहन हुआ है। इटावा, उन्नाव, कन्नौज, फतेहपुर, कानपुर देहात, चित्रकूट, महोबा और फर्रुखाबाद में रामलीला आयोजकों ने तैयारियां पूरी कीं और रावण दहन संपन्न कराया। इस दौरान लोगों की भीड़ रही और रावण के पुतले में आग लगते ही वातावरण श्रीराम के जयकारों से गूंज उठा। आइए तस्वीरों में देखते हैं, कहां पर कैसा रहा रावण दहन...।

इटावा : इटावा शहर के रामलीला मैदान में रामलीला मंच पर श्रीराम ने धनुष बाण से रावण की नाभि भेदकर वध कर दिया। इसके बाद रावण का पुतला दहन किया गया। इस दौरान पूरा मैदान आतिशबाजी से जगमगा उठा और जय श्रीराम के नारों से पूरा मैदान गूंज उठा। रामलीला मैदान में पुलिसकर्मी मुस्तैद दिखे। ग्रामीण क्षेत्रों में भी रावण दहन किया गया।

फतेहपुर : जनपद में कई जगह रामलीला का आयोजन हुआ और रावण दहन किया गया। यहां बिंदकी में ऐतिहासिक दशहरा महोत्सव में लंका के मैदान में श्रीराम द्वारा रावण का वध करने के बाद पुतला दहन किया गया।

इस दौरान केंद्रीय राज्यमंत्री साध्वी निरंजन ज्योति, प्रदेश सरकार के खादी ग्रामोद्योग मंत्री राकेश सचान, बिंदकी विधायक जय कुमार सिंह जैकी, जहानाबाद विधायक राजेंद्र सिंह पटेल, पूर्व मंत्री अमरजीत सिंह जनसेवक, डीएम श्रुति, एसपी राजेश कुमार सिंह मौजूद रहे। 

चित्रकूट : दशहरा मेला में बारिश ने थोड़ा खलल जरूर डाला लेकिन लोगों का उत्साह कम नहीं हुआ। पुरानी बाजार रामलीला कमेटी की ओर से देर रात 22 फीट के रावण के पुतले का दहन किया गया।

मैदान में लोगों का उत्साह देखते ही बना और जय श्री राम के नारे से वातावरण गूंज उठा। रामलीला कमेटी के अध्यक्ष अशोक केशरवानी, प्रबंधक श्याम गुप्ता ने व्यवस्था संभाली। 

फर्रुखाबाद : कोरोना के चलते दो साल बाद दशहरा मेला का उत्साह बारिश ने फीका कर दिया। यहां क्रिश्चियन इंटर कालेज में देर शाम रामलीला में रावण दहन का कार्यक्रम हुआ। श्रीराम-लक्ष्मण के स्वरूपों ने रावण के पुतले में तीर छोड़े। पहले लंका और फिर कुंभकरण, मेघनाद और रावण के पुतले धूं-धूं कर जल उठे।

आसमान में सतरंगी आतिशबाजी की छटा देखते ही बनी। कलाकारों द्वारा प्रस्तुत किए गए सांस्कृतिक कार्यक्रमों ने लोगों का मन मोह लिया। बच्चों ने झूले का आनंद लिया। शमसाबाद और कायमगंज में भी रावण दहन हुआ। 

कानपुर देहात : विजयदशमी पर अकबरपुर ,झींझक, रसूलाबाद  कस्बा में चल रहे रामलीला के कार्यक्रम में देर रात रावण पुतला दहन हुआ। रावण के पुतले में आग लगते ही जय श्रीराम के जयकारे गूंज उठे। 

इस दौरान  लोगों ने मेले का आनंद लिया। कुछ जगह पर बारिश के बाद मैदान में लोगों को कीचड़ से समस्या हुई। 

महोबा : रामलीला समिति द्वारा आयोजित रामलीला मंचन में  प्रभु श्रीराम ने रावण वध किया तत्पश्चात देर रात 55 फीट ऊंचे पुतले का दहन किया गया। रावण दहन और आतिशबाजी देखने के लिए बड़ी संख्या में लोगों की भीड़ एकत्र रही और युवा अपने मोबाइल पर वीडियो भी बनाते नजर आए। 

कन्नौज : इत्र नगरी के तालग्राम और गुरसहायगंज कस्बे में रामलीला मंचन के साथ रावण दहन किया गया। गुरसहायगंज में श्री आदर्श रामलीला सब्जी मंडी के तत्वावधान में रावण वध की लीला के बाद रावण दहन होते ही लोगों ने गगनभेदी जयकारे लगाए।

रामगंज स्थित रामलीला मैदान में देर रात तक मेले में भीड़ रही और बच्चों ने खरीदारी के साथ स्टालों से स्वादिष्ट व्यंजनों का स्वाद लिया। रामलीला मंचन में श्रीराम ने 10 बाण चलाकर रावण् का वध किया। रामलीला समिति अध्यक्ष नवीन मिश्रा ने पुतला दहन किया, बारिश में भीग जाने की वजह से काफी देर में पुतला आग पकड़ सका।

 

बांदा : बबेरू के मैदान में रामलीला आयोजन श्रीराम ने रावण का वध किया और पुतला दहन किया गया। मैदान में आसपास के गांवाें से बड़ी संख्या में ग्रामीण पहुंचे। 

Edited By: Abhishek Agnihotri

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट