कानपुर, जेएनएन। एक तरफ शहरवासी विकास को लेकर जूझ रहे है। पार्षद सड़क, नाली और निर्माण को लेकर हंगामा कर रहे है। वहीं नगर निगम खजाने में वर्तमान समय में 222 करोड़ रुपये मौजूद है फिर भी शहर में विकास नहीं हो रहा है। पहले नवंबर माह में शासन ने 15 वें वित्त आयोग से सालिड वेस्ट मैनेजमेंट और प्रदूषण में 74-74 करोड़ रुपये दिए थे। सालिड वेस्ट मैनेजमेंट में दूसरी किस्त 74 करोड़ रुपये भेज दी है।

सालिड वेस्ट मैनेजमेंट में कुल 148 करोड़ रुपये हो गए है। नवंबर से बैंक में जमा धनराशि से नगर निगम को 11 लाख रुपये ब्याज मिल चुकी है। सालिज वेस्ट मैनेजमेंट में जल निकासी, पेयजल और सीवर समस्या से जुड़े काम होने है इसके अलावा कूड़ा निस्तारण से जुड़े विकास कार्य कराए जाने है। प्रस्ताव तैयार हो चुका है, लेकिन अभी तक कमेटी की बैठक नहीं होने के कारण योजना को अमली जामा नहीं पहनाया जा पा रहा है।

एक और किस्त बैंक में जमा हो गयी है। इसी कड़ी में 74 करोड़ रुपये प्रदूषण रोक थाम के लिए मिले है, लेकिन अभी तक पर्यावरण की गाइड लाइंस नहीं जारी होने के कारण प्रस्ताव नहीं तैयार हो पाया है। अब शासन ने गाइड लाइंस जारी की है इसके आधार पर कार्ययोजना तैयार की जा रही है। नगर निगम के मुख्य अभियंता एसके सिंह ने बताया कि जल्द कार्ययोजना लागू कराके काम शुरू करा दिए जाएगे।

 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप