कानपुर, जागरण संवाददाता। आमतौर पर आनलाइन खाना मंगाने पर डिलीवरीमैन जल्द ही मंगाए गए आइटम को घर पहुंचा देता है पर एसडीएम सदर संजय कुमार द्वारा ऑनलाइन फूड डिलीवरी करने वाली कंपनी स्विगी से मंगाई गई रसमलाई बीच रास्ते में ही गायब हो गई। उन्होंने कंपनी के डिलीवरीमैन को पुलिस से पकड़वा दिया। पूछताछ में डिलीवरीमैन ने बताया कि उसे भूख लगी थी, इसलिए रसमलाई खा गया। आरोपित को मानवीय आधार पर छोड़ दिया गया। एसडीएम ने डिलीवरी कंपनी के सीईओ के खिलाफ वाद दाखिल कर नोटिस जारी किया है।
  एसडीएम सदर ने तीन फरवरी को स्विगी कंपनी के जरिये बिरहाना रोड की प्रतिष्ठित दुकान से छह रसमलाई का ऑर्डर किया। कंपनी का डिलीवरीमैन पैकेट देकर चला गया। पैकेट को खोलकर देखा गया तो उसमें सिर्फ चार ही रसमलाई थी। इस पर उन्होंने स्टाफ को दुकान पर जानकारी करने के लिए भेजा। दुकान मालिक ने छह रसमलाई की पैकिंग की बात बताई। उन्होंने डिलीवरीमैन को कॉल की लेकिन उसने फोन नहीं उठाया। इसपर कंपनी के अधिकारियों से शिकायत की लेकिन उन्होंने भी घटना को नजरअंदाज कर दिया। गुरुवार को एसडीएम ने डिलीवरीमैन को बहाने से बुलाकर पुलिस के हवाले कर दिया। एसडीएम सदर के मुताबिक स्विगी कंपनी के सीईओ के खिलाफ वाद दाखिल कर नोटिस जारी की गई है।
कंपनियों के खिलाफ जांच शुरू
यह घटना खाद्य सुरक्षा को लेकर बड़ा सवाल है। खाद्य सुरक्षा एवं औषधि विभाग ने खाने की ऑनलाइन डिलीवरी करने वाली कंपनियों का लाइसेंस और पंजीकरण की जांच शुरू कर दी है।  

Posted By: Abhishek