कानपुर, जेएनएन। कोरोना वायरस संक्रमण काल के दौरान मेडिकल ऑक्सीजन की आपूर्ति पटरी पर लाने के लिए विभिन्न प्लांट में 24 घंटे काम हो रहा है। इसी के तहत कानपुर के पनकी ऑक्सीजन प्लांट में सिलेंडर रिफिलिंग के दौरान सिलेंडर में ब्लास्ट होने से एक मजदूर की मौत हो गई जबकि दो लोग घायल हैं। घायलों का इलाज कराया जा रहा है, जबकि प्लांट में काम शुरू कराने का प्रयास हो रहा है। फैक्ट्री मालिक की ओर से इसकी सूचना जिला प्रशासन को दे दी गई है। 

कानपुर के दादानगर इंडस्ट्रियल एरिया में पनकी ऑक्सीजन प्लांट में सी-13 प्लांट से आक्सीजन फुटकर व अस्पतालों को सप्लाई की जाती है। कोरोना संकट के चलते अभी प्लांट 24 घंटे चल रहा है। शुक्रवार सुबह चार बजे मर्दनपुर निवासी मजदूर मुराद अली सिलिंडर रिफिल कर रहा था, उसी दौरान अचानक एक सिलिंडर फट गया। हादसे में शरीर बुरी तरह क्षत विक्षत हो जाने से मुराद की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि पास में मौजूद किदवई नगर स्थित रॉयल चिल्ड्रेन हॉस्पिटल में आक्सीजन मैनजमेंट का काम देखने वाले रमईपुर निवासी हरिओम गौतम समेत एक अन्य मजदूर घायल हो गया।

दोनों घायलों को रॉयल चिल्ड्रेन हॉस्पिटल ले जाया जहां हालत नाजुक होने से हरिओम को आईसीयू में भर्ती किया गया, जबकि गम्भीर चोट न होने से दूसरे मजदूर को प्राथमिक उपचार के बाद घर भेज दिया गया। हादसे के बाबत प्लांट मालिक ने कुछ भी बोलने से इंकार कर दिया। 

स्टैटिक मजिस्ट्रेट के रूप में तैनात नायाब तहसीलदार ने प्रशासन के अधिकारियों को सूचना दे दी। हादसे केे घंटों बाद भी कोई अधिकारी मौके पर नहीं पहुंचा था। हादसे की वजह जानने के लिए पुलिस प्लांट में जांच कर रही है।

एसीपी गोविंद नगर सर्किल ने बताया कि पनकी गैस प्लांट में किदवई नगर के एक अस्पताल का गैस सिलेंडर भरवाने के लिए कोई आया था। उसका एक सिलेंडर संभवत: कमजोर था जिसमें विस्फोट हुआ। इसमें यहां के एक कर्मचारी की मौके पर मौत हो गई है। एक उपचार कराकर घर चला गया है और दूसरा अस्पताल में है।

मरीज बताकर बुलाई एंबुलेंस : एम्बुलेंस चालक राम लखन ने बताया कि कंट्रोल रूम में सुबह पांच बजे सूचना मिली कि उनकी आक्सीजन प्लांट में मजदूर घायल हैं। जब मौके पर पहु़ंची तो वहां शव मिला। नायब तहसीलदार और डीपीआरओ ने एम्बुलेंस को जबरन रोक लिया है। 

Edited By: Akash Dwivedi