कानपुर, जेएनएन। कोरोना वायरस से जंग के लिए हथियार तैयार हो गए हैं, अब उनकी धार परखी जा रही है। शनिवार को शहर में 17 डॉक्टरों और 13 मरीजों को कोरोना की ट्रायल वैक्सीन लगी, जिसके परिणाम कुछ दिन में सामने आ जाएंगे। यह एंटी बॉडीज के रूप में शरीर में नजर आएंगे। इसके बाद अगले चरण का परीक्षण शुरू हो जाएगा।

प्रखर हॉस्पिटल में भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (आइसीएमआर) के सहयोग से 17 डॉक्टरों को स्वदेसी वैक्सीन का डोज दिया गया। यह तीसरे फेज का ट्रायल है। इसमें महिला और पुरुष दोनों शामिल रहे। उनके शरीर की पूरी जांच की गई, जिसके बाद वैक्सीन का डोज दिया गया। जीएसवीएम मेडिकल कॉलेज के मेडिसिन विभाग के प्रो. जेएस कुशवाहा ने बताया कि ट्रायल में 20 दिन बाद दूसरी बार वैक्सीन लगाई जाएगी।

वहीं हैलट के मेडिसिन विभाग में 13 मरीजों को रूस की स्पुतनिक वैक्सीन लगाई गई। रोगियों की उम्र 18 से 55 वर्ष की रही। यह वैक्सीन दूसरे फेज के ट्रायल के अंतर्गत लगी। जीएसवीएम मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य प्रो. आरबी कमल ने बताया कि दवा कंपनी के विशेषज्ञ वॉयल लेकर आए थे। मरीजों की जांच के बाद उन्हें डोज दी गई।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021