कानपुर, जेएनएन। शहर कांग्रेस कमेटी के कई पदाधिकारी कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका वाड्रा के सारथी बनकर काम कर रहे हैं। लखीमपुर खीरी में हुए आंदोलन के दौरान भी वह उनके साथ रहे और मंगलवार को एक बार फिर किसानों द्वारा शोकसभा (अरदास) कार्यक्रम में भी पदाधिकारी शामिल होने पहुंच गए। इनमें ज्यादातर टिकट के दावेदार हैं, ऐसे में प्रदेश कांग्रेस कमेटी से लगातार मिल रहे निर्देश के बाद वे अपनी दावेदारी को पक्का मानकर चल रहे हैं।

विधानसभा चुनाव नजदीक हैं। ऐसे में कांग्रेस पार्टी में टिकट के दावेदार सक्रिय हो चुके हैं। प्रदेश कांग्रेस कमेटी में आवेदन के बाद टिकट पाने के लिए लखनऊ तक जुगत लगा रहे हैं।इनमें कुछ ऐसे हैं जिन्हें प्रदेश कांग्रेस कमेटी हर मुद्दे पर फोन कर जिम्मेदारी दे रही है।जिसके बाद इन दावेदारों को भी लग रहा है कि उनके टिकट का रास्ता साफ हो रहा है।दरअसल प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने प्रियंका की गिरफ्तारी के बाद इन दावेदारों को सीतापुर पहुंचने के निर्देश दिए थे।जिसके बाद नगर ग्रामीण ने वहां प्रियंका रसोई खोल दी और आंदोलनरत कांग्रेस कार्यकर्ताओं के लिए भोजन पानी की व्यवस्था की।

इसके लिए प्रदेश कांग्रेस कमेटी से उन्हे सराहना मिली। प्रियंका की रिहाई के बाद दावेदार लखीमपुर खीरी तक गए।मंगलवार को एक बार फिर पीसीसी से मिले निर्देश के बाद यह दावेदार प्रियंका के साथ सारथी बनकर किसानों के अरदास कार्यक्रम में लखीमपुर खीरी पहुंचे। बता दें इनमें शहर कांग्रेस कमेटी उत्तर के जिलाध्यक्ष नौशाद आलम मंसूरी सीसामऊ से टिकट के दावेदार हैं। वहीं दक्षिण जिलाध्यक्ष डा. शैलेंद्र दीक्षित गोविंद नगर से टिकट की दावेदारी कर चुके हैं। छावनी से वर्तमान विधायक सोहिल अख्तर अंसारी का टिकट तय माना जा रहा है क्योंकि वह सिटिंग विधायक हैं।

करिश्मा ठाकुर भी गोविंदनगर से दावेदार हैं।उपचुनाव में बेहतर प्रदर्शन करने के बाद से उनकी दावेदारी काफी मजबूत मानी जा रही है। वहीं प्रदेश कांग्रेस कमेटी में सचिव विकास अवस्थी ने भी गोविंद नगर से ही दावा ठोका है।क्षेत्रीय समस्याओं पर वह सक्रिय हैं और समय-समय पर आंदोलन करते हैं। नगर ग्रामीण जिलाध्यक्ष अमित पांडेय कल्याणपुर से टिकट मांग रहे हैं। प्रदेश अध्यक्ष बीते दिनों उनकी विधानसभा क्षेत्र पहुंचे और आश्वासन दिया तो वह भी अपना टिकट पक्का मानकर चल रहे हैं।

Edited By: Abhishek Agnihotri