चित्रकूट, जेएनएन। कभी उप्र व मप्र के पाठा के जंगलों में आतंक का पर्याय रहे दस्यु शिवकुमार पटेल 'ददुआÓ के बिगड़ैल हाथी को शनिवार रात वन विभाग ने पकड़ लिया है। उसे दुधवा नेशनल पार्क लखीमपुर खीरी भेजा गया है। वन कर्मियों के मुताबिक, ददुआ के बेटे व सपा के पूर्व विधायक वीर सिंह पटेल ने हाथी बेच दिया था। उसे ट्रक से गुजरात के जामनगर ले जाया जा रहा था, तभी मध्य प्रदेश के सतना जिला अंतर्गत सिंहपुर बैरियर के पास कार्रवाई की गई। डेढ़ साल पहले उत्पात मचाने पर वन विभाग ने हाथी को जब्त कर लिया था। हालांकि, रेस्क्यू सेंटर भेजने के लिए मुख्य वन संरक्षक वन्यजीव से अनुमति नहीं मिलने के कारण वह पूर्व विधायक की ही देखरेख में था।  

प्रभागीय वनाधिकारी आरके दीक्षित ने बताया कि हाथी का नाम जय सिंह है, जो पूर्व विधायक के पिता मारे जा चुके डकैत ददुआ ने खरीदा था। हाथी ने डेढ़ साल पहले रैपुरा थानाक्षेत्र के गौरिया में मदहोश होकर उत्पात मचाया था। तब उनसे कागजात मांगे गए थे, लेकिन वह कुछ नहीं दिखा सके थे। हाथी को जब्त कर रेस्क्यू सेंटर मथुरा भेजने की तैयारी चल रही थी। मुख्य वन संरक्षक वन्यजीव को पत्र भेजा गया था, लेकिन तभी पूर्व विधायक ने कागजात चोरी होने का मुकदमा कर्वी कोतवाली में दर्ज कराकर डुप्लीकेट कागजात बनवाने का समय मांगा था। इस पर हाथी उनकी देखरेख में था। इस दौरान हाथी ने भौंरी व प्रसिद्धपुर गांव में भी उत्पात मचाया। चार माह पहले हाथी को बेचने की भनक लगने पर निगरानी बढ़ाई गई थी। शनिवार  रात जब देवकली से हाथी को ट्रक में लादकर ले जाया जा रहा था, तभी वन विभाग की टीम ने पीछा किया। वन विभाग अधिकारियों से संपर्क करके सिंहपुर बैरियर पर ट्रक रोककर हाथी बरामद किया गया। बताया कि हाथी वन विभाग की संपत्ति था। उसको बेचने के इल्जाम में पूर्व विधायक के खिलाफ कर्वी कोतवाली मेें रेंजर रैपुरा आरएस दिवाकर ने मुकदमा दर्ज कराने को तहरीर दी है। वहीं, पूर्व विधायक से संपर्क करने का प्रयास किया गया, लेकिन उनका मोबाइल फोन बंद रहा।   

Edited By: Abhishek Agnihotri