कानपुर, जेएनएन। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सात दिसंबर को शहर आ रहे हैं। मुख्यमंत्री यहां गंगा के विभिन्न घाटों का निरीक्षण करेंगे और फिर सर्किट हाउस में अफसरों के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रस्तावित कार्यक्रम को लेकर की जा रही तैयारियों की समीक्षा करेंगे। मुख्यमंत्री सीसामऊ नाला भी देख सकते हैं। चूंकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का स्टीमर से गंगा बैराज से जाजमऊ तक गंगा की स्थिति देखने का कार्यक्रम है। ऐसे में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी गंगा का निरीक्षण स्टीमर से कर सकते हैं। मुख्यमंत्री के आने की सूचना देर रात मिली तो अफसर सतर्क हो गए और गंगा को लेकर अब तक हुए कार्यों प्रस्तुतिकरण उनके समक्ष करने की तैयारी में जुट गए हैं।

सीएसए में जाकर देखी तैयारी

जल निगम के एमडी विकास कोठलवाल ने मंडलायुक्त सुधीर एम बोबडे, जिलाधिकारी विजय विश्वास पंत, नगर आयुक्त अक्षय त्रिपाठी और जल निगम के अभियंताओं के साथ चंद्रशेखर कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय (सीएसए) में प्रधानमंत्री की 14 दिसंबर को प्रस्तावित कार्यक्रम को लेकर चल रही तैयारियों का निरीक्षण किया। हेलीपैड की जगह, कैलाश भवन, ग्र्राउंड और परिसर को देखा। रंगरोगन के साथ ही सफाई के आदेश दिए। इसके बाद बैराज में सिंचाई विभाग के कार्यालय, वाटर ट्रीटमेंट प्लांट और अटल घाट का निरीक्षण किया।

घाटों के किनारे पकड़े जानवर, हटाए चट्टे

महापौर प्रमिला पांडेय ने कैटल कैचिंग विभाग के साथ चट्टों के खिलाफ अभियान चलाया। बुढिय़ा घाट से 12 गाय, 17 सूअर पकड़े गए। रानी घाट के पास पांच गाय पकड़ी गईं। इसके अलावा आठ सांड़ पकड़े। बादशाही नाका सब्जी मंडी स्थित गुलियाना में चट्टों से भी 14 गाय और तीन भैंस पकड़ी।

शहर में हवा-पानी देखेगी पर्यावरण मंत्रालय की टीम

शहर की हवा पहले से ही खराब चल रही है। गंगा की स्थिति भी खास अच्छी नहीं है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कानपुर आ रहे हैं। उनके साथ पांच राज्यों के मुख्यमंत्री और नमामि गंगे से जुड़े कई अधिकारी भी रहेंगे। ऐसे में पर्यावरण की मौजूदा हालत कैसी है, मौसम की स्थिति क्या रहेगी। इस बात का गहनता से आकलन करने वन एवं पर्यावरण मंत्रालय की टीम दो-तीन दिन में शहर आएगी। इसको लेकर जिला प्रशासन ने भी कमर कस ली है।

17 विभागों को किया गया निर्देशित

नगर निगम, आरटीओ, केडीए, वन विभाग, आवास विभाग समेत 17 विभागों को वायु प्रदूषण पर एडवाइजरी के अनुरूप काम करने के लिए निर्देशित किया गया है। प्रदूषण फैलाने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई के लिए कहा गया है। सामाजिक संस्थाओं से घाटों पर साफ सफाई का आग्रह किया गया है। नगर निगम को नियमित कूड़े के उठान के लिए निर्देशित किया गया है। उसकी मानीटङ्क्षरग रिपोर्ट के लिए अधिकारियों को जिम्मेदारी सौंपी गई है। पर्यावरण मंत्रालय की ओर से नामित टीम के विशेषज्ञ नगर निगम, केडीए, केंद्रीय और उत्तर प्रदेश प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड से पूर्व के आंकड़े ले सकते हैं। उनके सहयोग में प्रशासनिक अधिकारियों की ड्यूटी लगाई जाएगी। डीएम विजय विश्वास पंत ने बताया कि केंद्र की ओर से टीमें आनी हैं, लेकिन कौन सी टीम आएगी, इसकी जानकारी नहीं है। जिला प्रशासन गंगा और वायु की गुणवत्ता बनाए रखने के लिए दिन रात एक किए हुए हैं।

गंगा बैराज के पास रहने वालों का सत्यापन शुरू

गंगाबैराज अटल घाट पर प्रधानमंत्री के प्रस्तावित कार्यक्रम को देखते हुए पुलिस ने सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी है। एसएसपी अनंत देव के आदेश पर गुरुवार को गंगा बैराज के दोनों तरफ करीब एक किलोमीटर दूर तक के इलाकों में पुलिस ने घर-घर जाकर सत्यापन अभियान शुरू किया। 14 दिसंबर को प्रधानमंत्री के शहर आगमन को लेकर अधिकारियों ने पूरे क्षेत्र में एंटी सबोटाज और खुफिया टीमों को अलर्ट कर दिया है। बैराज के आसपास हाल ही में बने मकानों पर पैनी नजर है। साथ ही खुफिया टीमें संदिग्धों के बारे में पूछताछ कर रही हैं।

आइडी कार्ड देखकर की पूछताछ

गुरुवार को कोहना थाना प्रभारी प्रभुकांत ने फोर्स के साथ गंगा किनारे बने नए मकानों में रहने वालों के आइडी कार्ड देखकर पूछताछ की। इसी तरह बैराज पार स्थित गांवों में भी पूछताछ की गई। नवाबगंज का भी फोर्स साथ रही। थाना प्रभारी ने बताया कि जिन लोगों ने बाहरी जिलों का रहने वाला बताया है, उनके जिलों की पुलिस से सत्यापन कराया जा रहा है। संदिग्ध व्यक्तियों को तत्काल हिरासत में लेने के निर्देश आए हैं।  

Posted By: Abhishek

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस