कानपुर, जागरण संवाददाता। सीबीएसई बोर्ड के छात्र-छात्राएं बिना किसी तनाव और दबाव के पढ़ाई कर सकें, इसके लिए समय-समय पर बोर्ड की ओर से छात्रहित को देखते हुए प्रभावी कदम उठाए जाते हैं। बोर्ड ने जहां टर्म वन की परीक्षाओं में बहुविकल्पीय प्रश्नो को पूछना शुरू कर दिया, वहीं अब नौवीं व 10वीं के छात्र प्रयोगों की बारीकियां समझ सकें, इसके लिए बोर्ड की ओर से शिक्षकों को प्रशिक्षित किया जाएगा।

बोर्ड के निदेशक प्रशिक्षण व स्किल एजूकेशन डा.बिस्वजीत साहा की ओर से इस संबंध में निर्देश जारी कर दिए गए हैं। निर्देशों के मुताबिक शिक्षकों के लिए बोर्ड ने सेंटर आफ एक्सीलेंस (सीओई) से करार किया है। सीओई के विशेषज्ञ शिक्षकों को एक घंटा के सत्र में परिकल्पना, अनुमान लगाना, प्रयोगों के दौरान आंकड़े तैयार करना, प्रायोगिक पर्यवेक्षण के विषय में जानकारी देंगे। यह आनलाइन सत्र पूरी तरह निश्शुल्क रहेगा।

75 प्रयोगों की जानकारी सामने आइ: बोर्ड की ओर से दी गई जानकारी के मुताबिक नौवीं व 10वीं के छात्रों के लिए बोर्ड ने कुल 75 प्रयोगों का पूरा डाटा तैयार कर लिया है। इस डाटा को बोर्ड की वेबसाइट पर अपलोड किया जा चुका है। बोर्ड के विशेषज्ञों का मानना है, कि कोरोना महामारी को देखते हुए कक्षाओं में जो छात्र संख्या घटी है, उसके चलते अब छात्र घर बैठे ही एक क्लिक पर प्रयोगों की पूरी जानकारी हासिल कर सकेंगे। वहीं, शिक्षक उन्हें प्रयोगों से जुड़ी हर बारीकियां भी समझा सकेंगे।

बोले जिम्मेदार: सभी स्कूलों के प्रधानाचार्य अपने यहां जो नौवीं व 10वीं के छात्रों को पढ़ाने वाले शिक्षक हैं, उनकी ट्रेनिंग जरूर करा दें। ट्रेनिंग की पूरी जानकारी सीबीएसई की वेबसाइट से ली जा सकती है। वहीं, छात्र भी प्रयोगों के विषय में एक क्लिक पर पूरी जानकारी ले सकते हैं। - बलविंदर सिंह, सिटी कोआर्डिनेटर, सीबीएसई

Edited By: Shaswat Gupta