उन्नाव, जागरण संवाददाता। लखनऊ-कानपुर हाईवे पर पांच दिन पहले पुलिस कर्मियों को कुचलने का प्रयास करने वाली कार का कनेक्शन कानपुर दंगे के आरोपित अरशद उर्फ बबलू शिकारी से निकला है। पुलिस की जांच में कार का पंजीयन उसकी पत्नी के नाम से है। पत्नी ने पति के परिचित खान भाई का नाम पुलिस के सामने लिया है। पुलिस कार सवार लोगों का पता लगाने में जुट गई है। 

अचलगंज क्षेत्र में आजाद मार्ग चौराहा पर पुलिस टीम ने संदेह के आधार पर 28 सितंबर 2022 को कानपुर रजिस्ट्रेशन नंबर की कार को रोकने का प्रयास किया था। कार सवार लोगों ने पुलिस टीम को कुचलने का प्रयास किया था। पुलिस के पीछा करने पर कार छोड़कर भाग निकले थे। कार कब्जे में लेकर पुलिस ने जांच शुरू की थी।
एसपी दिनेश त्रिपाठी के निर्देश पर जांच कर रही स्वाट टीम कार के रजिस्ट्रेशन नंबर के आधार पर कानपुर सीसामऊ क्षेत्र के गांधी नगर में रहने वाली जरीना के घर पहुंची। कार जरीना के नाम ही है।जरीना ने बताया कि उसका पति अरशद उर्फ बबलू शिकारी कानपुर दंगे में आरोपित हुआ था। पुलिस ने उसे जेल भेज दिया था।

पति के जेल जाने के बाद से वह घर पर अकेली रहती है। पति के परिचित खान भाई हैं, जो कार को ले गए थे। पुलिस कार ले जाने वाले व्यक्ति का पता लगा रही है। जरीना के घर के आसपास लगे सीसीटीवी कैमरे भी पुलिस ने खंगाले हैं। एसपी दिनेश त्रिपाठी ने बताया कि जल्द राजफाश किया जाएगा।

Edited By: Nitesh Mishra

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट