जागरण संवाददाता, कानपुर : भारतीय जनता पार्टी ने संगठन में चुनावी गोट बिछाना शुरू कर दिया है। प्रदेश कार्यकारिणी में हुए परिवर्तन ने इशारा कर दिया है कि सरकार और संगठन में संतुलन के साथ ही भाजपा अब सोशल इंजीनिय¨रग पर भी पूरी नजर जमाए है।

भाजपा प्रदेशाध्यक्ष डॉ. महेंद्र नाथ पांडेय ने शुक्रवार देर रात नई प्रदेश कार्यकारिणी की घोषणा कर दी। इसमें कानपुर में भी कुछ फेरबदल हुए हैं। पार्टी प्रदेश महामंत्री सलिल विश्नोई का पद बरकरार रखने के साथ ही दो नए प्रदेश मंत्री बना दिए। इनमें अब तक क्षेत्रीय पदाधिकारी के रूप में काम देख रहे देवेश कोरी और नगर निकाय चुनाव के संयोजक रहे पूर्व क्षेत्रीय महामंत्री संगठन प्रकाश पाल को जिम्मेदारी सौंपी है। इनमें प्रकाश पाल पिछड़ा जाति वर्ग का प्रतिनिधित्व करते हैं तो देवेश कोरी अनुसूचित जाति से हैं। सलिल विश्नोई के जरिये पार्टी ने वैश्य समाज को साधे रखने की कोशिश की है। हां, ब्राह्माण समाज से दो पदाधिकारियों को प्रदेश संगठन से हटाया है। प्रकाश शर्मा प्रदेश उपाध्यक्ष थे, जबकि सुरेश अवस्थी प्रदेश मंत्री। इस वर्ग को फिलहाल पार्टी प्रदेश सरकार में सत्यदेव पचौरी को कैबिनेट मंत्री बनाकर संतुष्ट किए हुए है। वहीं, पंजाबी वर्ग के लिए सरकार में औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना बैठे हैं। हालांकि, पार्टी में चर्चा यही है कि हटाए गए एक प्रदेश पदाधिकारी को राष्ट्रीय कार्यकारिणी में जल्द ही शामिल किया जा सकता है। वैसे फिर से प्रदेश महामंत्री बनाए गए विजय बहादुर पाठक भी मूलत: कानपुर से ही हैं। अब बेशक, उन्हें लखनऊ कोटे में डाल दिया गया हो। संगठन की यह सारी बिसात पार्टी ने आगामी लोकसभा चुनाव के मद्देनजर ही बिछाई है।

Posted By: Jagran