कानपुर, जागरण संवाददाता: बिकरू कांड के मास्टर माइंड विकास दुबे के भतीजे अमर दुबे की पत्नी और सबसे चर्चित आरोपित खुशी सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर शनिवार को माती जेल से रिहा हुई। अब वह आगे की पढ़ाई करना चाहती है। खुशी ने बातचीत में बताया कि वह इंटरमीडिएट तक की पढ़ाई प्राइवेट करना चाहती है। स्कूल को लेकर अभी कुछ तय नहीं हुआ है। जैसा परिवार के लोग चाहेंगे, उसी हिसाब से आगे की पढ़ाई होगी।

खुशी ने बताया कि मंगलवार को उनके मामले में माती कोर्ट में एडीजे 13 की कोर्ट में सुनवाई थी, जिसमें वह गई थी। पूरा दिन वहीं गुजर गया। वहां से लौटने पर घर में एक कार्यक्रम का आयोजन था तो नाते-रिश्तेदारों की भीड़ जमा थी। बातचीत में खुशी ने बताया कि वह आगे पढ़ाई करना चाहती है, लेकिन दाखिले के लिए अभी समय नहीं निकाल पाई है।

10वीं के बाद हो गई थी शादी

खुशी ने बताया कि मई में उनका दसवीं का परीक्षा परिणाम आया था। जून में उनकी शादी हो गई थी। शादी के चार दिन बाद से ही पहले चौबेपुर थाना फिर जेल गई। 30 माह बाद रिहाई हुई है। इतने बीच का अंतर है तो दाखिले में कुछ दिक्कत तो आएगी।

फिलहाल, वह इंटरमीडिएट तक की पढ़ाई बायोलाजी से प्राइवेट करना चाहती है। खुशी ने बताया कि मौका मिला और अच्छे से पढ़ाई कर राष्ट्रीय प्रवेश पात्रता परीक्षा ( नीट) की तैयारी करके एमबीबीएस की पढ़ाई करना चाहती है।

11वीं की पढ़ाई के लिए उसके पुराने विद्यालय शहीद चंद्रशेखर आजाद इंटर कालेज में प्रयास करने के सवाल पर खुशी का कहना था कि वहां अब दोबारा नहीं जाएगी, जहां परिवार वाले चाहेंगे और आसानी से दाखिला मिलेगा, वहीं से वह इंटरमीडिएट तक की पढ़ाई करेगी।

Edited By: Shivam Yadav

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट