कानपुर, जेएनएन। शादियां रचाने के शौकीन बाबा ने अपने छोटे भाई की पत्नी संग दुष्कर्म ही नहीं किया। दुष्कर्म का विरोध करने पर उसे दो लाख में दिल्ली के लोगों को बेचा भी था। जबरन साथ ले जा रहे लोगों के चंगुल से छूटकर वह भागी और स्थानीय लोगों की मदद से वह भागकर वहां से 65 किलोमीटर दूर अपने मायके में पहुंची थी।

मूलरूप से निगोही शाहजहांपुर निवासी फर्जी बाबा अनुज चेतन एक के बाद एक पांच शादियां कर चुका है। शादियों के शौकीन बाबा छठवीं शादी करने की फिराक में था। जिसकी भनक उसकी श्याम नगर निवासी पांचवी पत्नी को लग गई थी। जिसके बाद पीडि़ता ने किदवई नगर थाने में आरोपित के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई थी। किदवई नगर पुलिस ने पांच दिन पहले आरोपित फर्जी बाबा अनुज चेतन को गिरफ्तार कर जेल भेजा था। बाबा के जेल जाने के बाद उनकी पूर्व पनयिों ने किदवई नगर थाने पहुंचकर अपने बयान और वीडियो बयान दर्ज कराए थे। पूर्व पनयिों के साथ फर्जी बाबा के छोटे भाई रवि कुमार की पत्नी भी थाने आयी थीं। उन्होंने भी फर्जी बाबा के खिलाफ गवाही देने के साथ शपथ पत्र भी दिए हैं। पीलीभीत से आयी बाबा की बहू ने उसकी करतूतें दैनिक जागरण से बातचीत में उजागर करीं। पीडि़ता ने बताया कि आरोपित बाबा उसके साथ दुष्कर्म कर चुका है। इसका विरोध करने और उसकी करतूते सामने आने पर शादियों के शौकीन बाबा ने उसका दो लाख रुपये में दिल्ली के लोगों से सौदा किया था।

पीडि़ता का आरोप है कि अनैतिक कार्य के लिए दिल्ले से आए हथियारों से लैस युवक उसे जबरन ले जा रहे थे। निगोही से पांच किलोमीटर दूरी पर ट्रैफिक में कार फंसने का उसने फायदा उठाया और दरवाजा खोलकर भाग निकली। शोर मचाने पर भीड़ जुटी थी तो कार सवार भाग निकले थे। किसी तरह स्थानीय लोगों की मदद से वह वहां से 65 किलोमीटर दूर अपने मायके पहुंची और आपबीती सुनाई, जिसके बाद मां उसके साथ निगोही थाने गई, लेकिन वहां उनकी सुनवाई नहीं हुई। इस पर पीडि़ता ने न्यायालय में गुहार लगाई थी। न्यायालय के आदेश पर पुलिस ने रिपोर्ट तो दर्ज कर ली। बाद में बाबा के प्रभाव में उसमें फाइनल रिपोर्ट लगा दी। पीडि़ता ने बताया कि वह मामले की दोबारा विवेचना कराने के लिए न्यायालय में गुहार लगाएगी। 

Edited By: Akash Dwivedi