Move to Jagran APP

मुख्तार बाबा पर अब खाद्य विभाग का शिकंजा, नवीन मार्केट समेत कई रेस्टोरेंट सील और बाकी से लिये सैंपल

कानपुर में हुए उपद्रव और शत्रु संपत्ति मामले में नाम आने के बाद मुख्तार बाबा को पुलिस ने गिरफ्ता करके जेल भेज दिया है और अब प्रशासन ने उसके प्रतिष्ठानों पर कार्रवाई करने की शुरुआत कर दी है।

By Abhishek AgnihotriEdited By: Published: Mon, 27 Jun 2022 04:11 PM (IST)Updated: Mon, 27 Jun 2022 04:11 PM (IST)
नवीन मार्केट का बाबा बिरयानी रेस्टोरेंट सील कर दिया।

कानपुर, जागरण संवाददाता। बेकनगंज के रामजानकी मंदिर की भूमि पर बाबा बिरयानी रेस्टोरेंट बनाने, शत्रु संपत्ति की गलत ढंग से खरीद-फरोख्त और फिर परेड में हुए उपद्रव में नाम आने के बाद सुर्खियों में आए मुख्तार बाबा पर अब प्रशासन का शिकंजा कसने लगा है। उपद्रव के मामले में पूछताछ के लिए बुलाए गए मुख्तार बाबा की गिरफ्तारी होने पर प्रशासन ने अब उसकी संपत्तियों पर निगाहें टेढ़ी कर दी हैं। सोमवार को खाद्य आपूर्ति विभाग की टीम ने मुख्तार बाबा द्वारा संचालित कई प्रतिष्ठानों से खाद्य पदार्थों के सैंपल एकत्र किए, वहीं पहले से एकत्र सैंपल की रिपोर्ट आने पर संबंधित प्रतिष्ठान को सील करने की कार्रवाई की है। सुबह से शुरू हुई इस कार्रवाई को लेकर खाद्य पदार्थ बेचने वाले प्रतिष्ठान संचालकों में खलबली का आलम बना है।

बाबा बिरयानी का संचालक है मुख्तार बाबा : कानपुर शहर ही कई जगह बाबा बिरयानी के नाम से संचालित रेस्टोरेंट का संचालक मुख्तार बाबा उस समय सुर्खियों में आया जब बेकनगंज में मंदिर की भूमि पर रेस्टोरेंट खड़ा करने का खुलासा हुआ। इसकी जांच के दौरान मुख्तार बाबा का नाम शत्रु संपत्ति की खरीद-फरोख्त में भी जुड़ गया। पुलिस अभी उसके खिलाफ पुख्ता सुबुत जटा ही रही थी कि तीन जून को परेड नई सड़क पर जुमे की नमाज के बाद दुकानें बंद कराने को लेकर उपद्रव हो गया।

उपद्रव में गिरफ्तार मास्टर माइंड हयात जफर हाशमी की कुंडली की खंगाली गई तो फिर एक बार मुख्तार बाबा का नाम सामने आया। पुलिस को पता चला कि उपद्रव में फंडिंग और रूपरेखा तैयार करने में मुख्तार बाबा की भी संलिप्तता है। इसके बाद एसआइटी ने पूछतपाछ के लिए बुलाने के बाद बीती 22 जून को मुख्तार बाबा को गिरफ्तार करने के बाद जेल भेज दिया गया था। अब प्रशासन ने उसके प्रतिष्ठानों पर शिकंजा कसना शुरू कर दिया है।

नवीन मार्केट का बाबा बिरयानी रेस्टोरेंट सील : बीती 8 जून को खाद्य विभाग ने बाबा बिरयानी रेस्टोरेंट समेत आठ दुकानों से सैंपल लिए थे। 24 जून को आगरा से जांच रिपोर्ट आने के बाद सभी नमूने फेल हो गए, जिसपर खाद्य विभाग ने नोटिस करके कार्रवाई की तैयारी की थी। इसी क्रम में सोमवार को खाद्य विभाग की टीम ने सबसे पहले नवीन मार्केट स्थित बाबा बिरयानी रेस्टोरेंट को सील कर दिया, हालांकि इसका लाइसेंस जेजे फूड्स के नाम से है।

वहीं जायका रेस्टोरोंट समेत आठ प्रतिष्ठानों को सील करेन की कार्रवाई की गई। इस दौरान खाद्य विभाग की टीम के साथ एसीएम छह वान्या सिंह एवं स्वरूप नगर पुलिस टीम मौजूद रही। इसके साथ ही जाजमऊ के गुरु गोविंद चौक स्थित बाबा बिरयानी रेस्टोरेंट से खाद्य विभाग की टीम ने सैंपल एकत्र किए। 


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.