जागरण संवाददाता, कानपुर : विंग कमांडर परमवीर सिंह के नेतृत्व में देवप्रयाग से बिठूर पहुंची गंगा यात्रा का प्रमुख सचिव नगर विकास मनोज कुमार सिंह ने स्वागत किया। इस दौरान उन्होंने दावा किया कि तीन माह के अंदर बिठूर के सभी नालों को गंगा में गिरने से रोक दिया जाएगा। उन्होंने कानपुर में गंगा को सबसे ज्यादा दूषित बताते हुए इसके लिए शहर की भारी जनसंख्या और टेनरियों को जिम्मेदार ठहराया, जबकि टेनरियां लंबे अरसे से बंद हैं।

गंगा स्वच्छता के प्रति जागरुकता के लिए विंग कमाडर परमवीर सिंह ने अपनी नौ सदस्यीय टीम के साथ दस अक्टूबर को देवप्रयाग से गंगा यात्रा शुरू की थी। यह यात्रा गंगासागर तक जाएगी। टीम में दो वैज्ञानिक भी शामिल हैं। जो जगह-जगह गंगा जल के नमूने ले रहे हैं। स्वागत कार्यक्रम के बाद घाट पर गंगा आरती का आयोजन भी किया गया।

इसके बाद प्रमुख सचिव नगर विकास ने कानपुर के अटल घाट पर मंडलायुक्त डॉ. सुधीर एम बोबडे, जिलाधिकारी विजय विश्वास पंत, विंग कमांडर परमवीर सिंह, नगर आयुक्त संतोष कुमार शर्मा के साथ गंगा आरती की। इसके बाद सूफी भजन गायक समरजीत रंधावा ने कार्यक्रम प्रस्तुत किया।

गंगा सफाई के लिए खर्च होंगे दस हजार करोड़

प्रमुख सचिव नगर विकास मनोज कुमार सिंह ने बताया कि गंगा सफाई के लिए दस हजार करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे। अब तक 4500 करोड़ रुपये के काम शुरू हो चुके हैं। प्रदेश में 104 नालों पर एसटीपी बन रहे हैं। कानपुर में बढ़े हुए प्रदूषण को लेकर बोले कि जल्द ही अच्छी खबर आएगी। साथ ही एकल शौचालयों में हुई धांधली के दोषियों पर जांच के बाद कार्रवाई करने का आश्वासन दिया।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप