फतेहपुर, जेएनएन।  हैदराबाद और उन्नाव के बाद अब फतेहपुर में दरिंदगी की वारदात से सनसनी फैल गई। शनिवार सुबह हुसेनगंज क्षेत्र के एक गांव में दरिंदे ने घर में घुसकर 18 वर्षीय युवती के साथ दुष्कर्म किया और विरोध करने पर उसके शरीर पर केरोसिन छिड़ककर आग लगा दी। चीखते हुए युवती बाहर भागी तो पड़ोसियों ने आग बुझाकर उसे अस्पताल पहुंचाया। 90 फीसद झुलसी पीड़िता को एलएलआर अस्पताल (हैलट) कानपुर रेफर किया गया है। वारदात को अंजाम देने के बाद फरार आरोपित को रात करीब नौ बजे गिरफ्तार कर लिया गया। एडीजी प्रयागराज सुजीत पांडेय, डीआइजी कवींद्र प्रताप सिंह, डीएम संजीव कुमार सिंह व एसपी प्रशांत वर्मा ने घटनास्थल का जायजा लिया।

सुबह करीब नौ बजे पड़ोस में रहने वाला चाचा घर में युवती को अकेला पाकर घुस आया और दुष्कर्म किया। युवती ने जब स्वजनों को जानकारी देने की बात कही तो आरोपित ने केरोसिन डालकर आग लगा दी। वह चीखते हुए घर के बाहर भागी। आग बुझाने के बाद पड़ोसी उसे अस्पताल लेकर आए। डॉ. नरेश विशाल ने बताया कि युवती 90 फीसद से अधिक झुलस गई है। हालत बेहद गंभीर होने पर महिला सिपाही के साथ उसे 108 एंबुलेंस से कानपुर भेज दिया गया। पीडि़ता के भाई ने थाने में तहरीर देकर बताया कि स्वजन मजदूरी करने गए थे। घर में बहन अकेली थी, तभी पड़ोसी घर में घुस आया और बहन के साथ दुष्कर्म कर उसे जला दिया। एसपी ने बताया कि रात नौ बजे आरोपित को गिरफ्तार कर लिया गया है। उससे पूछताछ की जा रही है। 

अस्पताल में मजिस्ट्रेटी बयान 

नायब तहसीलदार संतराज ने सीओ सिटी कपिलदेव मिश्र, महिला थाना प्रभारी नमिता ङ्क्षसह, हुसेनगंज एसओ निशिकांत राय, डॉ. नरेश विशाल, बाकरगंज चौकी इंचार्ज आशुतोष कुमार ङ्क्षसह की मौजूदगी ट्रॉमा सेंटर में युवती के मजिस्ट्रेटी बयान दर्ज किए। पीडि़ता ने कहा कि युवक ने दुष्कर्म किया। विरोध करने पर मिट्टी का तेल डालकर आग लगा दी। देर शाम गांव पहुंची फॉरेंसिक टीम ने साक्ष्य जुटाए।

मामले की हो रही जांच : एडीजी 

एडीजी प्रयागराज सुजीत पांडेय ने पत्रकारों को बताया कि ग्रामीणों के बयान से पता चला कि दोनों के बीच प्रेम प्रसंग था। सुबह पंचायत के दौरान युवक व उसके स्वजन घर के पीछे की तरफ मौजूद थे, उसी समय युवती ने खुद को आग लगा ली। हालांकि युवती के बयान व भाई की तहरीर पर दुष्कर्म व जान से मारने के प्रयास का मुकदमा दर्ज कर जांच की जा रही है।

डीजीपी ने तलब की रिपोर्ट

डीजीपी ओपी सिंह ने एसपी व एडीजी से घटना की जानकारी लेते हुए त्वरित कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। साथ ही रिपोर्ट तलब की है। जिलाधिकारी संजीव कुमार सिंह ने कहा कि  युवक-युवती के बीच प्रेम प्रसंग की जानकारी के बाद शनिवार सुबह पीड़िता के घर के पास ही पंचायत चल रही थी। पंचायत में दोनों के स्वजन मौजूद थे। पंचायत ने दोनों को अलग रहने का फरमान सुनाते हुए युवक को युवती की शादी होने तक गांव से बाहर जाने को कहा था। इसी बीच सूने घर में युवती ने आग लगा ली। एसपी प्रशांत वर्मा ने बताया कि  गांव में पंचायत के बाद युवती ने आग लगा ली। घटना के बाद पंचायत में मौजूद युवक फरार हो गया। मौके की तहकीकात व ग्रामीणों के बयान से यही पता चला कि दोनों के बीच दो साल से प्रेम प्रसंग था।

प्राथमिक जांच में सामने आई ये बात

पुलिस की प्राथमिक जांच में सामने आया है कि किशोरी और युवक का प्रेम प्रसंग चल रहा था। दोनों के परिवार वाले इस रिश्ते के खिलाफ थे। इस बात को लेकर शुक्रवार को दोनों पक्षों के बीच पंचायत हुई थी, जिसमें दोनों की शादी कराने पर सहमति बन गई थी। पंचायत में किशोरी ने युवक के पैर छुए थे। 

यह भी पढ़ें : फतेहपुर कांड पर राष्ट्रीय महिला आयोग की सदस्य की तीखी टिप्पणी, फतेहपुर डीएम-एसपी तलब

यह भी पढ़ें : साहब! मरना नहीं चाहती, मुझे बचा लो, फतेहपुर की पीडि़ता का बयान सुन सहम गए अफसर

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस