कानपुर देहात, जेएनएन। Groom refused from marriage शादियों के दौरान या उससे पहले होने वाले कुछ किस्से ऐसे होते हें जिन्हें सुर्खियां बनने में देर नहीं लगती है। ऐसा ही किस्सा सामने आया है उत्तर प्रदेश के कानपुर देहात से। जहां अतिरिक्त दहेज की मांग पर अड़े वर पक्ष ने शादी से इन्कार कर दिया। केवल इतना ही नहीं इसके बाद उन्हाेंने वधू पक्ष काे धमकी दी। पूरे घटनाक्रम के बाद से ही गांव में विभिन्न प्रकार की अटकलाें का दौर शुरू हो गया। वहीं, दुल्हन जिस पल अपने जीवन की नई पारी शुरू करने के सपने संजो रही थी अचानक उसकाे पता चला कि उसका घर बनने से पूर्व ही उजड़ गया। तभी युवती के पिता ने थाने जाकर तहरीर दी और वर पक्ष के ही चार लोगों के विरुद्ध रिपोर्ट दर्ज कराई।

यह है पूरा मामला: बरौर थाना क्षेत्र के गांव निवासी एक पिता ने पुलिस को बताया कि उन्होंने अपनी पुत्री की शादी जालौन जनपद के सिरसा कलार थानांतर्गत न्यामतपुर गांव निवासी रामनरेश यादव के साथ तय की थी। सब कुछ तय हो जाने के बाद उन्होंने 14 दिसम्बर 2020 को बरीक्षा का कार्यक्रम रखा था। इसमें उन्होंने  नकद रुपये, फल, बर्तन, मिठाई आदि सामान वर पक्ष काे दिया था। यही नहीं हर तीज-त्योहार पर उन्होंने वर पक्ष काे काफी सामान भेजा। उन्होंने बताया कि दीपावली व मकर संक्रांति और होली के त्योहार वधू पक्ष वर पक्ष के घर नकदी और सामान भेजता था। इसी वर्ष वे बेटी के हाथ पीले करने की तैयारी कर रहे थे आैर उनका परिवार वर पक्ष की हर मांग काे पूरा करने के लिए हरसंभव प्रयास कर रहा था, तभी अचानक लड़के वालों ने शादी से इन्कार कर दिया।

वर पक्ष की इस मांग पर बिफरा वधू पक्ष: युवती के पिता ने बताया कि वे लड़के वालों की हर मांग को पूरा करने का प्रयत्न कर रहे थे, लेकिन इसके बाद भी उन्होंने तय दहेज से अतिरिक्त दहेज की मांग कर दी। लड़के वालों ने मांग रखी कि दहेज में चार पहिया वाहन भी चाहिए, जब उन्हाेंने (वधू पक्ष) ने असमर्थता व्यक्त की तो फिर वर पक्ष ने शादी से ही इन्कार कर दी। इतना ही नहीं जब शादी करने या पैसे वापस करने का दबाव बनाया गया तो उन्होंने अभद्र भाषा का प्रयोग करते हुए जान से मारने की धमकी दे डाली।

इनका ये है कहना: बरौर थानाध्यक्ष श्रीकेश भारती ने बताया कि युवती के पिता की तहरीर पर जालौन जनपद के सिरसाकला थानांतर्गत न्यामतपुर गांव निवासी रामनरेश यादव, उसके भाई गणपत यादव व पिता रामसनेही यादव के विरुद्ध घोखाधड़ी, दहेज अधिनियम, गाली-गलौज व जान से मारने की धमकी देने की धाराओं में रिपोर्ट दर्ज की गई है।

Edited By: Shaswat Gupta