फतेहपुर, जेएनएन। Self Immolation in UP फतेहपुर कोतवाली के हाफिजपुर हरकरन गांव में बेटियों को लेकर पत्नी के मायके चले जाने से दुखी पति ने शनिवार को आत्मदाह का प्रयास किया। शरीर पर पेट्रोल डाल कर लगाई गई आग के बढ़ने पर वह पास में बनी एक नाली में कूद गया, लेकिन तभी आग नहीं बुझ सकी। इसके बाद शरीर में हो रही जलन के कारण वह दर्द से चिल्लाने लगा। शोर सुनते ही मुहल्‍ले के लोग आ गये और कपड़ा डाल कर आग पर काबू पाया गया। गंभीर रूप से झुलस जाने पर युवक को सीएचसी जिला अस्पताल ले जाया गया। जहां उसका इलाज चल रहा है। कोतवाली प्रभारी रवींद्र श्रीवास्तव ने बताया कि जांच में स्पष्ट हुआ है कि विनोद से अनबन के चलते पत्नी बच्चों को लेकर बिना बताए मायके गई है और पीड़ित का अभी उपचार चल रहा है। 

यह है पूरा मामला: हाफिजपुर हरकरन निवासी 35 वर्षीय विनोद विश्वकर्मा कानपुर में प्राइवेट नौकरी करता है। शनिवार देर रात वह घर आया था, पड़ोसियों से पता चला कि दोनो बेटियों को लेकर पत्नी पुनीता अपने मायके चली गई है। इससे दुखी युवक ने आग लगा ली और कीचडय़ुक्त पानी से भरी नाली में घुस गया। आग नहीं बुझी तो जान बचाने के लिए जोर से चीख पुकार करने लगा। मुहल्लेवासियों ने युवक पर कपड़ा डालकर आग बुझाई। गंभीर रूप से झुलस जानेपर उसे सीएचसी  जिला अस्पताल भेजा गया है। बताया गया कि विनोद कुमार विश्वकर्मा बाइक से चलने के लिए बोतल में पेट्रोल भरवाकर घर पर ही रखे था और उसी से खुदकुशी का प्रयास किया। 

Edited By: Shaswat Gupta