कानपुर, [ऋषि दीक्षित]। हार्निया की दिक्कत होने पर 100 साल के बुजुर्ग को जीएसवीएम मेडिकल कालेज के लाला लाजपत राय (एलएलआर) चिकित्सालय के सर्जरी विभाग के वार्ड छह में भर्ती कराया गया। तीन दिन से वार्ड में भर्ती बुजुर्ग को डाक्टर देखने तक नहीं आ रहे हैं। उनके स्वजन बर्फ से सिकाई कर रहे हैं। इंतजार करते-करते थक चुके स्वजन ने जूनियर रेजीडेंट (जेआर) से जाकर समस्या बताई तो जेआर ने तपाक से कटाक्ष किया-100 साल उम्र है, अब कितना जिएंगे। इस जवाब से आहत स्वजन प्रमुख अधीक्षक प्रो. आरके मौर्या से शिकायत करने पहुंच गए। इस पर उन्होंने जेआर को डांट लगाई। मरीज से ऐसा बर्ताव न करने की नसीहत भी दी।

फतेहपुर निवासी विश्वनाथ खन्ना की उम्र 100 वर्ष है। उन्हें हार्निया की दिक्कत होने पर स्वजन जीएसवीएम मेडिकल कालेज के एलएलआर अस्पताल लेकर आए। उन्हें सर्जरी विभाग के वार्ड छह के बेड आठ पर भर्ती हैं। उनका इलाज सर्जरी विभाग के डा. प्रियेश शुक्ला की यूनिट में चल रहा है। बुजुर्ग को भर्ती करने के बाद से डाक्टर देखने तक नहीं आए हैं। हार्निया में सूजन है, इसलिए बर्फ से सिकाई करने की सलाह दी गई है। उन्हें भर्ती करने के बाद से डाक्टर देखने ही नहीं आए हैं। तीन दिन से सिर्फ बर्फ से सिकाई ही चल रही है। इस समस्या से जब जेआर से शिकायत की तो संतोषप्रद जवाब नहीं मिला। इस पर वह प्रमुख अधीक्षक से शिकायत करने पहुंच गए।

-बुजुर्ग के स्वजन शिकायत करने आए थे। उनकी समस्या सुनी है। उनकी यूनिट के सीनियर डाक्टर एवं जेआर से बात कर बेहतर इलाज करने का निर्देश दिया है। बुजुर्ग के लिए ऐसा जवाब देने वाले जेआर को फटकार लगाई है। अगर लिखित शिकायत करेंगे तो जांच कर कार्रवाई भी की जाएगी। -प्रो. आरके मौर्या, प्रमुख अधीक्षक, एलएलआर अस्पताल।

Edited By: Abhishek Agnihotri