केडीए के समस्या समाधान शिविर में शनिवार को 120 शिकायतें आई, केडीए उपाध्यक्ष ने अफसरों को दिए तुरंत निस्तारण करने के आदेश जागरण संवाददाता, कानपुर : सरकारी जमीन पर कब्जा करके बेचने, वैकल्पिक भूखंड न देने और पूरा पैसा जमा होने के बाद भी रजिस्ट्री न किए जाने की शिकायत आवंटियों ने केडीए में आयोजित समस्या समाधान शिविर में की। उपाध्यक्ष राकेश सिंह ने अफसरों को प्राथमिकता के आधार पर समस्याओं के निस्तारण के आदेश दिए। शिविर में तीसरे दिन शनिवार को 120 शिकायतें आईं।

इक्तेदार हुसैन ने बाबूपुरवा में सरकारी जमीन को बेचने, अजय अवस्थी ने भूखंड संख्या-28, ईडब्ल्यूएस, जरौली, खाड़ेपुर में अवैध निर्माण करने की शिकायत की। संतोष सविता ने आवंटित भूखंड संख्या-डी-9, जरौली, फेस-2 के स्थान पर वैकल्पिक भूखंड आवंटित किए जाने की मांग की। ब्रजशरण ने भूखंड संख्या 7, ब्लाक-के, तात्याटोपे नगर (प्रथम) का कब्जा दिए जाने, राजेंद्र दीक्षित ने भवन संख्या-ई-11, ईडब्ल्यूएस, गुंजन विहार, डबल स्टोरी के भवन को ओटीएस का लाभ देते हुए पुरानी दर पर हिसाब बनाकर रजिस्ट्री कराने की मांग की। अनंत कृष्ण पांडेय ने भवन संख्या-जी-492, ईडब्ल्यूएस तृतीय, गुजैनी पर ओटीएस का लाभ दिए जाने, मनीष अस्थाना ने बर्रा एक में स्वामित्व में वरासतन नामांतरण करने, अभय जायसवाल ने दबौली में नामांतरण करने, अशोक पांडेय ने तात्याटोपे नगर फेस-एक में कब्जा दिलाने की मांग की। मुल्कराज ने कहा, पीएम आवास योजना में पांच हजार रुपये का ड्राफ्ट दिया गया, पर अभी तक फ्लैट नहीं मिला है। उपाध्यक्ष ने सभी अफसरों को शिकायतों का तुरंत निस्तारण के आदेश दिए। सचिव एसपी सिंह, अपर सचिव डॉ. गुणाकेश शर्मा मौजूद रहे।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप