जाली स्टांप मामले में पुलिस ने एक संदिग्ध को उठाया

कानपुर, जेएनएन। बर्रा में जाली स्टांप और नोटरी टिकट मामले में पुलिस प्रयागराज से एक संदिग्ध को उठाकर भागलपुर ले गई है। यहां उसकी निशानदेही पर अन्य सदस्यों के बारे में पता लगाया जाएगा।

बर्रा में एक भूमि विवाद के मामले मेंं दस्तावेज तैयार करने के लिए जाली स्टांप और नोटरी टिकट का इस्तेमाल किया गया था। मामले में पुलिस ने दो वेंडरों प्रयागराज स्टेनली रोड निवासी रंजीत कुमार रावत और कर्नलगंज निवासी मोहम्मद शीजान को दबोचा था। डीआइजी डॉ. प्रीतिंदर सिंह ने बताया था कि दोनों की सीडीआर और बैंक खाते खंगाले गए। रंजीत के कनेक्शन पता लगाने के लिए एक टीम प्रयागराज गई थी। यहां से संदिग्ध को उठाया कर पुलिस भागलपुर ले गई है। एसपी साउथ दीपक भूकर ने बताया कि जल्द ही गिरोह के अन्य सदस्य पकड़े जाएंगे।

पुलिस की दबिश में नहीं मिले संदिग्ध

जाजमऊ में सिलाई कारीगर की हत्या के मामले में पुलिस ने जाजमऊ और पटकापुर में संदिग्धों के घरों पर दबिश दी है। संदिग्धों के न मिलने पर पुलिस लौट आई। पटकापुर निवासी 50 वर्षीय सिलाई कारीगर लियाकत अली को चाकू से गोदने के बाद हत्यारों ने शव जाजमऊ चौकी के पास फेंक दिया था।

डॉक्टर ने की महिला मरीज से छेड़छाड़, रिपोर्ट दर्ज

बेकनगंज थानाक्षेत्र के नई सड़क पर रहने वाली एक महिला ने बेनाझाबर के पास क्लीनिक चलाने वाले डॉक्टर पर छेड़छाड़ का आरोप लगाते हुए मुकदमा दर्ज कराया है। आरोप है कि विरोध करने पर डॉक्टर ने साथियों के साथ मिलकर हमला भी किया। पुलिस मामले की जांच में जुटी है। महिला के मुताबिक गुरुवार को वह आर्यनगर बेनाझाबर कॉलोनी स्थित डॉक्टर के यहां गईं थीं। केबिन में जांच के दौरान डॉक्टर ने छेड़छाड़ की। मुकदमा दर्ज कर पुलिस सीसीटीवी फुटेज खंगाल रही है।

नशे में धुत मजदूर ने खुद को लगाई आग, गई जान

कलक्टरगंज थानाक्षेत्र की पीली बिल्डिंग में 45 वर्षीय मजदूर आजाद बाल्मीकि ने नशे में धुत होकर शुक्रवार सुबह खुद पर मिट्टी का तेल डालकर आग लगा ली। चीख पुकार सुन स्वजन दौड़े और आग बुझाकर उसे उर्सला अस्पताल में भर्ती कराया, जहां इलाज के दौरान मौत हो गई।

आजाद नयागंज व जनरलगंज में मजदूरी करता था। उसकी पत्नी और इकलौते बेटे की कुछ वर्ष पूर्व मौत हो गई थी। तब से वह डिप्रेशन में था। मां और भाई का परिवार ही उसे खाना देता था। मां पार्वती ने बताया कि शुक्रवार सुबह सात बजे आजाद नशे में धुत होकर घर लौटा और बाहरी कमरे में जाकर लेट गया। इसके बाद उसने मिट्टी का तेल डालकर खुद को आग लगा ली। चीखपुकार सुनकर उनकी और आसपास के लोगों की नींद खुली। लोगों ने पानी डालकर आग बुझाई और उर्सला ले गए, लेकिन उसकी जान नहीं बच सकी। थाना प्रभारी राजेश पाठक ने बताया कि डिप्रेशन व नशेबाजी के चलते मजदूर ने खुद को आग लगाई है। स्वजनों ने कोई तहरीर नहीं दी है।

संदिग्ध परिस्थितियों में किशोरी ने फांसी लगाई

पनकी थानाक्षेत्र की न्यू सुंदर नगर कॉलोनी में रहने वाली किशोरी ने गुरुवार रात संदिग्ध परिस्थितियों में फांसी लगा ली। पुलिस को कोई सुसाइड नोट नहीं मिला। स्वजनों ने भी आत्महत्या का कारण नहीं बताया है। न्यू सुंदर नगर निवासी राजेंद्र गौतम वाणिज्यकर विभाग में अधिकारी हैं। उनकी 14 वर्षीय बड़ी बेटी नित्या पनकी के ही एक विद्यालय में कक्षा नौ की छात्रा थी। गुरुवार रात मां नीता व छोटी बहन मानसी दूसरे कमरे में थीं। पिता व भाई बाहर गए थे, तभी नित्या ने अपने कमरे में दुपट्टे के सहारे पंखे से फंदा लगाकर फांसी लगा ली। मां जब कमरे में पहुंचीं तो जानकारी हुई। सूचना पाकर देर रात पुलिस पहुंची और जांच की। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में फांसी से मौत की पुष्टि हुई है। थाना प्रभारी अतुल कुमार सिंह ने बताया, किशोरी के परिवारीजनों ने आत्महत्या का कोई कारण नहीं बताया है। जांच की जा रही है।

आइएमईआइ नंबरों से बरामद किए जाएंगे चोरी के मोबाइल फोन

कर्नलगंज पुलिस के हत्थे चढ़े दुकानदारों के लैपटॉप से बरामद इंटरनेशनल मोबाइल इक्विपमेंट आइडेंटिटी (आइएमईआइ) की मदद से पुलिस चोरी के फोन बरामद करने की कोशिश कर रही है। गुरुवार को कर्नलगंज पुलिस ने मोबाइल फोन चोरी करके रहमानी मार्केट में बेचने वाले दो बदमाशों अमर बाथम, संतोष सैनी और उनकी निशानदेही दो दुकानदारों मो. फैजान व हसमत अली को गिरफ्तार कर जेल भेजा था। आरोपितों के पास से चोरी के 30 मोबाइल फोन, लैपटॉप, दो टेबलेट व आइएमईआइ नंबर बदलने वाली डिवाइस बरामद हुई थी। पुलिस ने जब दुकानदारों के लैपटॉप का डाटा खंगाला तो उसमें सैकड़ों आइएमईआइ नंबर फीड मिले। माना जा रहा है कि आरोपितों ने चोरी के फोन में ये नंबर डालकर उन्हेंं ग्राहकों को बेचा था। इसके बाद पुलिस ने सॢवलांस टीम की मदद लेनी शुरू की है। थाना प्रभारी देवेंद्र विक्रम सिंह ने बताया कि जितने भी आइएमईआइ नंबर मिले हैं, उन्हेंं सॢवलांस पर लगाकर अन्य मोबाइल फोन की तलाश की जा रही है।

संदिग्ध हालात में आरएसएस कार्यकर्ता की मौत

केशव पुरम में रहने वाले राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के कार्यकर्ता की शुक्रवार सुबह संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई। शरीर नीला पड़ने से स्वजन ने जहर दिए जाने की आशंका जताई है। मूलरूप से जालौन निवासी एवं कल्याणपुरम थाना क्षेत्र के केशवपुरम में रह रहे गुलाब सिंह का 22 वर्षीय छोटा बेटा आर्यन आरएसएस से जुड़ा था। गुरुवार रात आर्यन घर पहुंचा तो उसे उल्टियां शुरू हो गईं। कार्डियोलॉजी अस्पताल में उसने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया। राज्य मंत्री नीलिमा कटियार ने पीड़ित परिवार को सांत्वना दी। पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने पर कार्रवाई की जाएगी। 

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप