कानपुर, जेएनएन। फर्राटा क्वीन पीटी ऊषा को आदर्श मानकर कमाल करने वाली शहर की धावक मीनू साहू ने राज्यस्तरीय एथलीट प्रतियोगिता में स्वर्णिम छाप छोड़ी। मीनू ने ओपन वर्ग में दो स्वर्ण पदक जीतकर शहर का मान बढ़ाया है।

बर्रा में रहने वाली राजमिस्त्री आज्ञाराम साहू की पुत्री मीनू ने विपरीत पस्थितियों को पीछे छाेड़ते हुए दौड़ में पहचान हासिल करने में जुटी हुई है। मेरठ में हुई 54वीं राज्यस्तरीय एथलेटिक्स प्रतियोगिता में मीनू ने 200 मीटर और 400 मीटर की दौड़ के महिला वर्ग में दो स्वर्ण पदक झटके। एथलेटिक्स कानपुर के सचिव डॉ. देवेश दुबे ने बताया कि मीनू के साथ शहर धावक आदित्य कुमार सिंह ने भी अंडर-20 बालक वर्ग की 100 मीटर दौड़ में आर सपना श्रीवास्तव ने महिला वर्ग में 800 मीटर दाैड़ में रजत पदक जीता। उन्होंने बताया कि मीनू ने पिता के हौसले के बदौलत शिक्षा के साथ खेल जगत में पहचान बनाने के लिए कदम बढ़ा दिए हैं।

ग्रीनपार्क में प्रशिक्षण हासिल कर एथलीट का ककहरा सीखने वाली मीनू तीन बार ऑल इंडिया यूनिवर्सिटी प्रतिभाग चुकी हैं। उन्होंने वर्ष 2018 में हुए अंडर-20 एथलीट टूर्नामेंट के 400 व 800 मीटर कांस्य पदक जीतकर पहचान हासिल की थी। उन्होंने बताया कि मीनू के प्रदर्शन को देखते हुए उन्हें उप्र सीनियर टीम में चयन की प्रबल दावेदारों में माना जा रहा है।

मीनू इन दिनों एथलेटिक्स की बारीकियों में निपुणता हासिल करने के लिए हरियाणा में बने सिंथेटिक ट्रैक पर अभ्यास कर रहीं हैं। उड़नपरी पीटी ऊषा को आदर्श मानने वाली मीनू साहू शहर का नाम खेल के बदौलत देशभर में रोशन करना चाहती हैं। मीनू ने बताया कि हरियाणा में अच्छे एथलीट्स के साथ सीखने और बेहतर करने का अवसर मिल रहा है।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप