कानपुर, जेएनएन। क्षमता से सात गुना से अधिक यातायात का भार वहन कर रहे कानपुर सागर राष्ट्रीय राजमार्ग पर प्रतिदिन होने वाले हादसे और मिनटों की यात्रा घंटों में पूरी होने का दर्द जिम्मेदारों को स्पंदित नही कर रहा है। बुधवार रात नौबस्ता से लेकर बिधनू थाना क्षेत्र में कई हादसे हुए तो सागर राष्ट्रीय राजमार्ग जाम हो गया। करीब तीस किमी तक पहुंची वाहनों की कतार गुरुवार सुबह 10 बजे के बाद तक भी दिखाई देती रही और पुलिस जाम खुलवाने के लिए जूझती नजर आई है।

नौबस्ता थाना क्षेत्र में ट्रक के नाला में फंसने, बिधनू के रमईपुर व शंभुआ क्षेत्र में हुए हादसों के बाद मध्य रात से राजमार्ग पर जाम लगने का सिलसिला शुरू हो गया था। जो गुरुवार सुबह छह बजे तक शहर छोर में गल्ला मंडी व घाटमपुर छोर पर जहांगीराबाद गांव के सामने तक जाम में फंसे वाहनों की कतार पहुंच चुकी थी। जहांगीराबाद निवासी चालक मुस्तकीम अली बताते हैं कि वह मौरंग लेकर लखनऊ जा रहे थे। रात दो बजे से रमईपुर में फंसे हैं। पतारा रेलवे स्टेशन रोड के समीप मौरंग भरे ट्रक के साथ खड़े चालक अखिलेश बताते हैं कि वह सुबह पांच बजे से फंसे हैं। पतारा निवासी राकेश तिवारी की पत्नी सुमन ने बताया कि रात दो बजे रमईपुर के जाम में फंसने के बाद वह सुबह सात बजे घर पहुंच सकी हैं।

इधर वाहनों की कतार लंबी होते देख सुबह जागी पुलिस ने स्टेयरिंग में ही सो रहे वाहन चालकों को जगा कर जाम खुलवाने का प्रयास शुरू किया है। लेकिन आगे जाम होने के चलते पुलिस भी जाम खुलवाने में सफल नही हो पा रही है। चौकी के सिपाहियों के साथ जाम खुलवाने में जुटे पतारा चौकी प्रभारी सुरेश सिहं चहार बताते हैं कि मध्य रात से ही जाम लगा है। खुलवाने का प्रयास कर रहे हैं।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप